सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

रोहिंग्याओ पर हुआ एक्शन तो...चीख पड़ा वो सफेदपोश जिसे चिंता रहती है कभी पाकिस्तान की तो कभी चीन की

जम्मू कश्मीर पुलिस ने रोहिंग्या के खिलाफ छेड़ा अभियान तो ,फुफकार गए अब्दुल्ला

Khiladi
  • Mar 9 2021 7:01PM

जम्मू कश्मीर में अवैध रूप से रह रहे क्रूर व घुसपैठी  रोहिंग्या  पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है,जिसके बाद रोहिंग्या किसी बड़ी साजिश रचने में  व्याप्त हो गया ,पुलिस कार्रवाई में अब तक 155 मुसलमानों को होल्डिंग सेंटर भेजा जा चूका है ,जम्मू के भथिंडी का किरयानी तालाब मोहल्ला रोहिंग्या  मुसलमानो से सटा पड़ा है.इस मोहल्ला में रोहिंग्याओ के करीब 75 परिवार रहते है. लेकिन यहां पर पिछले 48 घंटे से अफरातफरी है. सन्नाटा है

जम्मू कश्मीर पुलिस ने रोहिंग्या मुसलमानों को दस्तावेज जांच करने के लिए बुलाया था,जिसमे कुछ लोगो को घर जाने के लिए कह दिया गया , लेकिन शक के दायरे में लिप्त हुए कुछ लोगो को पुलिस ने होल्डिंग सेंटर भेज दिया,इन सब रोहिंग्या मुसलमानो को पुलिस ने कठुआ जिले की उप-जेल में रखा है ,फिलहाल यह जेल हीरानगर में है ,जहां  रोहिंग्याओ मुसलमानो के लिए ‘होल्डिंग सेंटर’ बना रखा है.

बड़ी तादाद में जम्मू कश्मीर में रह रहे है रोहिंग्या मुसलमान 
वैसे तो रोहिंग्या मुसलमान पूरी दुनिया  में  फैले हुए है ,जिस कारण आज सभी देश इनसे त्रस्त है ,जहा भी रोहिंग्या अपना ठिकाना बनाता है ,वही आये  आतंकी घटना घटीत होती रहती है,लेकिन इनकी आबादी सबसे ज्यादा जम्मू कश्मीर में है ,यहां रोहिंग्या नागरिकों समेत 13,700 से ज्यादा विदेशी है ,जो पुरे जम्मू कश्मीर को खोखला कर रहे  है ,बताया गया है की पीडीपी के शासनकाल में इनकी  आबादी दिन दोगुनी रात चौगुनी की तरह बढ़ी  है 

रोहिंग्याओं का अब्दुल्ला हमदर्द 

कश्मीरी हिंदुओ  का नरसंहार  होने पर ताली पीटने वाले ,जब रोहिंग्याओ पर कार्रवाई हुई है तो इनकी चरमपंथ हमदर्दी खुलकर सामने आने लगी है ,जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री शेख अब्दुल्ला  ने कहा है की . हमें उस चार्टर को कबूल करना चाहिए. उस पर काम करना चाहिए और इंसानियत के तरीके से व्यवहार करना चाहिए.गौरतलब है  कि रोहिंग्या के खिलाफ ये कार्रवाई ऐसे समय की गई है, जब उनमें से कुछ के पास से फर्जी दस्तावेज, जिनमें आधार कार्ड और पासपोर्ट भी  जैसे मह्त्वपूर्ण  दस्तावेज पकडे गए है

वो कौन सा चार्टर जिसका अब्दुल्ला ने किया जिक्र  

आप उस मुल्क का हाल जानते हैं. पुराना बर्मा और जहां पर आप देखते हैं.अभी क्या क्या कर रहे हैं.मालूम हो कि यूनाइटेड नेशन्स का रिफ्यूजी का एक चार्टर है. भारत सरकार ने भी उस चार्टर पर दस्तखत किया है,हमें उस चार्टर को कबूल करना चाहिए,इसके बाद पुरे जम्मू से दिल्ली तक की सियासत गर्मा गयी ,अब्दुल्ला को जवाब देते हुए जम्मू कश्मीर के पूर्व उपमुख्यमंत्री कवीन्द्र सचान ने कहा जम्मू-कश्मीर या भारत कोई धर्मशाला नहीं है,कोई भी आकर यहां जब मर्जी रहे,और इन लोगों को संदिग्ध पाया गया है,बहुत सी ऐसी घटनाओं में,इसीलिए ये कार्रवाई करना जरूरी है,संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में करीब 14,000 रोहिंग्या मुसलमान ही शरणार्थी के रूप से रह रहें है

सबसे बड़ा सवाल आखिर रोहिंग्याओ का अगला कौनसा ठिकाना ,और कौन दे रहा है पनाह 

 जम्मू कश्मीर में पुलिस ने जब से रोहिंग्याओ के खिलाफ अभियान छेड़ा है ,तो  घुसपैठी रोहिंग्या  लगातार अपना ठिकाना बदल रहा है ,रोहिंग्या कार्रवाई की जगह को छोड़कर सुरक्षित ठिकाने पर पहुंच रहा है ,जो भारतीय जनमानस के बीच रच बस रहे है ,यह सुरक्षा के लिहाज से काफी सवेंदनशील प्रश्न है ,लेकिन सवाल तो ये भी खड़ा होता है की ,वो सब कौन है जो इनको सही सलामत पंहुचा रहा है ,आये दिन रोहिंग्या भारत की धरती को खून के लालरंग  में रंगना चाहते है ,इससे इतर जब से इन लोगो ने घुसपैठ कर  भारत में अपने कदम रखे है ,जब देश आये दिन जख्म दे रहे है

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

ताजा समाचार