सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Facebook ने ऑस्ट्रेलिया में खबरों को किया बैन

मॉरिसन ने फेसबुक विवाद के बारे में उन्हाेंने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी गुरूवार काे बात की है और वे ब्रिटेन, कनाडा और फ्रांस के नेताओं के साथ भी ऑस्ट्रेलिया के इस प्रस्तावित कानून के बारे में बात कर रहे हैं.

Sudarshan News
  • Feb 20 2021 12:31AM
फेसबुक (Facebook) द्वारा ऑस्ट्रेलिया (Australia) के यूजर्स पर लगाई गई राेक काे लेकर शुक्रवार काे ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott morrison) ने फेसबुक से अनुरोध किया कि वह रोक को हटा ले. मालूम हाे ऑस्‍ट्रेलिया में न्‍यूज दिखाने के लिए पैसा देने के कानून से भड़के फेसबुक ने सभी समाचार वेबसाइटों को खबरें पोस्‍ट करने पर प्रतिबंध लगाते हुए  खुद अपना पेज भी ब्‍लॉक कर दिया है. जिसके बाद फेसबुक की, मीडिया और शक्तिशाली प्रौद्योगिकी कंपनियों के बीच तकरार बढ़ गई है. इससे पहले विवादित कानून पेश किए जाने पर गूगल ने भी ऑस्ट्रेलिया में अपने सर्च इंजन को बंद करने की धमकी दी थी. मॉरिसन ने फेसबुक विवाद के बारे में उन्हाेंने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी गुरूवार काे बात की है और वे ब्रिटेन, कनाडा और फ्रांस के नेताओं के साथ भी ऑस्ट्रेलिया के इस प्रस्तावित कानून के बारे में बात कर रहे हैं. उन्हाेंने कहा कि उनकी सरकार देश में टेक कंपनियों की धमकियों से डरने वाली नहीं है.

प्रधानमंत्री कॉट मॉरिसन ने फेसबुक से कहा कि वे समाचार प्रकाशित करने वाले व्यवसायों से वार्ता शुरू करे. इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी भी दी कि अन्य देश भी समाचार साझा करने के एवज में डिजिटल कंपनियों से शुल्क वसूलने के उनकी सरकार के कदमों का अनुसरण कर सकते हैं. मालूम हाे ऑस्ट्रेलियाई सरकार और फेसबुक के बीच चल रही विवाद की वजह न्यूज कंटेंट के भुगतान को लेकर लाया जाने वाला वाे कानून है जिसमें अगर फेसबुक अपने प्लेटफॉर्म पर कोई न्यूज शेयर करता है तो इसके बदले उसे संबंधित मीडिया कंपनी को पैसे देने होंगे.

उन्होंने कहा, ''ऑस्ट्रेलिया जो कर रहा है उसमें कई देशों की दिलचस्पी है. इसलिए मैं गूगल के समान ही फेसबुक को भी आमंत्रित करता हूं कि वह रचनात्मक तरीके से वार्ता करे क्योंकि वे जानते हैं कि ऑस्ट्रेलिया यहां पर जो करने जा रहा है उसका अनुसरण कई पश्चिमी देश कर सकते हैं.'' मॉरिसन ने ऑस्ट्रेलिया के लोगों की समाचार तक पहुंच तथा इसे साझा करने से फेसबुक द्वारा गुरूवार को रोके जाने के कदम को एक खतरा बताया.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार