सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

*🛑 चौरई थानेदार पर कब होगी कार्यवाही❗

*💥 घटना के 22 दिन बीत जाने के बाद भी जाँच अधिकारी नही कर पाए जाँच पूरी।*

Neeraj sharma
  • Mar 4 2021 8:05PM
*🛑 चौरई थानेदार पर कब होगी कार्यवाही❗* *💥 घटना के 22 दिन बीत जाने के बाद भी जाँच अधिकारी नही कर पाए जाँच पूरी।* *💥 पीड़िता के परिवार ने तत्कालीन थाना प्रभारी द्वारा नाबालिक पीड़िता के साथ की गई मारपीट एवं जबरन बयान बदलने का दबाब बनाकर आरोप एवं आरोपियों को बचाने का लगाया था आरोप❗* *💥 उक्त घटना के संबंध में नाबालिक पीड़िता का परिवार एवं हिन्दूवादी संगठनो के द्वारा पुलिस अधीक्षक से की गई थी लिखित शिकायत❗* *▶️ गौरतलब है कि दिनांक 10 फरवरी 2021 के दिन दो युवकों द्वारा नाबालिक युवती का दिनदहाड़े अपहरण कर उसके साथ मारपीट एवं दुष्कर्म की घटना सामने आई थी, जिसमें पीड़िता के परिवार का आरोप था कि घटना के दिन सुबह लगभग 10:00 बजे से रात्रि 8:30 बजे तक पीड़ित युवती एवं उसके परिवार को चौरई पुलिस द्वारा दिनभर थाने में बैठाकर रखा गया था एवं चौरई पुलिस द्वारा पीड़िता के साथ मारपीट भी की गई थी एवं पीड़िता के पिता द्वारा लगातार बयान बदलने का दबाव बनाया जा रहा था धटना के लगभग 20 घंटे बीत जाने के बाद भी पीड़िता की ओर से f.i.r. नही लिखी गई थी उल्टा उक्त घटना को अंजाम देने वाला आरोपी बिट्टू उर्फ सरफराज खान एवं उसके सहयोगी आरोपी को बचाने का प्रायस किया जा रहा था। घटना की जानकारी लगने के बाद जब कुछ हिंदूवादी संगठन सामने आए तब जाकर चौरई पुलिस द्वारा रात्रि लगभग 2:00 बजे पीड़िता की तरफ से f.i.r. लिखी गई, चौरई पुलिस द्वारा इस मानवीय व्यवहार से व्यथित पीड़िता का परिवार एवं हिंदूवादी संगठनों द्वारा अगले दिन छिंदवाड़ा पुलिस अधीक्षक से संबंधित थाना प्रभारी के ऊपर तत्काल कार्यवाही करने हेतु लिखित आवेदन दिया गया था जिसके पश्चात जांच अधिकारी अमरवाड़ा एसडीओपी संतोष डेहरिया के माध्यम से की जा रही है लेकिन घटना के 22 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक जांच पूरी नहीं हो पाई है उल्टा नाबालिक पीड़िता को ही बयान दर्ज करवाने के लिए अमरवाड़ा बुलवाया जा रहा है जबकि पीड़िता इस हाल में नहीं है कि वह अपना बयान दर्ज करवाने जांच अधिकारी के पास अमरवाड़ा जा पाए। पीड़िता का परिवार अभी तक पुलिस से भयभीत है ओर वह चाहता हैं कि तत्कालीन थाना प्रभारी पर कार्यवाही की जावे!घटना के बाद पीड़िता के परिजनों द्वारा cm हेल्पलाइन नम्बर में शिकायत भी की गई थी जिसको लेकर चौरई पुलिस द्वारा पीड़ित परिवार के ऊपर शिकायत वापस लेने के लिए लगातार दबाब बनाया जा रहा हैं जिससे यह गरीब परिवार बहुत परेशान हैं। उक्त घटना के पीड़ित परिवार को जिले के सबसे संवेदनशील अधिकारी पुलिस अधीक्षक पर पूरा भरोसा है कि वे उनकी नाबालिक बच्ची के साथ हुए अमानवीय व्यवहार के लिए संबंधित दोषी थाना प्रभारी पर कार्यवाही करेंगे।*

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार