सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

लॉकडाउन के दौरान लोन की किश्त की किश्त अदायगी में ब्याज पर छूट की माँग के मामले में अगली सुनवाई 12 जून को

लॉकडाउन के दौरान लोन की किश्त की किश्त अदायगी में ब्याज पर छूट की माँग के मामले में अगली सुनवाई 12 जून को

Anchal Yadav
  • Jun 4 2020 5:23PM
लॉकडाउन के दौरान लोन की किश्त की किश्त अदायगी में ब्याज पर छूट की माँग के मामले में अगली सुनवाई 12 जून को होगी। आज सुप्रीम कोर्ट ने एक हफ्ते में वित्त मंत्रालय और अन्य पक्षकार RBI के हलफ़नामे पर अपना जवाब दाखिल करें।  
सुप्रीम कोर्ट में RBI ने हलफ़नामा दायर कर 6 महीने की मोराटोरियम अवधि के दौरान ब्याज माफी की मांग को गलत बताया है

RBI ने कहा कि लोगों को 6 महीने का EMI अभी न देकर बाद में देने की छूट दी गई है, लेकिन इस अवधि का ब्याज भी नहीं लिया गया तो बैंकों को 2 लाख करोड़ रु का नुकसान होगा

सुप्रीम कोर्ट में आरबीआई ने एफिडेविट दाखिल कर कहा है कि 6 महीने के लिए ईएमआई देने में जो छूट दी गयी है उस अवधि का ब्याज नही लेने से बैंक का 2 लाख करोड़ का नुकसान होगा। ईएमआई अभी न देकर बाद में देने की छूट दी गयी है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर मोराटोरियम अवधि ने ब्याज में छूट की मांग की गई है। इस याचिका पर आरबीआई से जवाब देने को कहा गया था। शुक्रवार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
1 Comments

सभी प्रकार की ईएमआई की कृष्णा को बढ़ाया जाए और उल्टी लगने वाली ब्याज पर पूरी तरह छूट मिलनी चाहिए क्योंकि इस महामारी में सब कुछ तब गया है इसीलिए लोगों के ऊपर और पहुंच ना डाला जाए जोर और जबरदस्ती भी ना किया जाए यही हमारी केंद्र में बैठी मोदी सरकार से निवेदन है और आरबीआई से भी निवेदन है बैंकों की एमआई में छोड़ दी जाए और उन पर लगने वाला ब्याज सभी प्रकार का माफ कर दिया जाए

  • Guest
  • Jun 4 2020 10:53:57:670PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार