सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

जब राज्यसभा में जया बच्चन की बारी आई तब लगा कि वो चीन सीमा, लव जिहाद या आतंकवाद पर चिंता व्यक्त करेंगी.. लेकिन उन्होंने चिंता किसी और विषय पर जताई

जानिये किस मुद्दे पर जया बच्चन ने उठाई आवाज ?

Rahul Pandey
  • Sep 15 2020 2:48PM
ये वो क्षेत्र था जिसमे हर कोई अपने आप में सेलिब्रिटी कहलाया करता था.. यहाँ से निकले संदेशो ने समाज में क्या असर डाला है इसको बताने की जरूरत नहीं है. इसको उद्द्योग का भी दर्जा दिया गया है और बाकायदा इसका एलान संसद में भी किया जाता है. लेकिन शायद पहली बार ये उद्द्योग भी ऐसा संकट में है कि इसकी आवाज संसद में उठानी पड़ रही है और ये काम किया है अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन ने. 

जया बच्चन उन तमाम राज्यसभा सासंदों में शामिल थीं जिन्होंने सुदर्शन न्यूज़ पर कार्यवाही की मांग पत्र पर हस्ताक्षर तब किये थे जब हमारे प्रधान सम्पादक सुरेश चव्हाणके जी ने राज्यसभा में भगवान श्रीराम को अपमानित करने वाले नरेश अग्रवाल को चुनौती दी थी. फिलहाल उन्ही जया बच्चन ने संसद में सिनेमा जगत को सुधारने और उसके लिए सरकार से कड़े कदम उठाने की मांग की है. 

ध्यान देने योग्य है कि चल रहे वर्तमान मानसून सत्र के दूसरे दिन समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने राज्यसभा में अपनी आवाज फिल्म जगत के समर्थन में उठाते हुए कहा है कि वर्तमान समय काल में सिनेमा उद्योग एक बेहद ही बुरे दौर से गुजर रहा है। इसी के साथ उन्होंने मोदी सरकार पर सिनेमा उद्योग की ओर ध्यान न देने का आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ लोग हालत से ध्यान भटकाने के लिए उल्टे-सीधे बयान दे रहे हैं।

जया बच्चन ने सदन में शून्यकाल की कार्यवाही के दौरान इस मुद्दे को उठाते हए कहा कि सिनेमा उद्योग की वजह से नाम कमाने वाले कुछ लोग इसे ‘गटर’ की संज्ञा दे रहे हैं। समझा जा रहा है कि उनका इशारा सिने अभिनेता व सांसद रवि किशन की ओर था। बच्चन ने सदन में अपनी बात रखते हुए कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया के जरिए असल मुद्दों से ध्यान भटकाने में लगे हैं। उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि कुछ लोग जिस थाली में खाते रहे हैं उसी में छेद कर रहे हैं।

सपा सांसद ने सिनेमा जगत की मौजूदा स्थिति पर अफसोस जताते हुए कहा कि विकट परिस्थिति में इस उद्योग को सरकार की मदद नहीं मिल रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सिनेमा जगत को अनाप-शनाप कहने वाले लोगों को सरकार इस तरह की भाषा से बचने के लिए कहेगी। जया ने कहा कि महज कुछ लोगों के कारण पूरे सिनेमा उद्योग की छवि को खराब नहीं किया जा सकता। उन्होंने लोकसभा सदन में एक सदस्य द्वारा उठाए गए मुद्दे का उल्लेख करते हुए कहा कि यह शर्म की बात है कि इस उद्योग को बदनाम किया जा रहा है। यद्दपि जया बच्चन ने सिनेमा के अब तक देश पर पड़े कुप्रभावों के बारे में कुछ नहीं कहा और न ही उन हिन्दू विरोधी फिल्मो का जिक्र किया जिसमे हिन्दुओं की आस्था को लगातार घाव दिया गया है. 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार