सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

मंगल पांडेय के साथ फांसी चढ़े थे एक और महायोद्धा.. वो वीर जिन्होंने पटक दिया था उस गद्दार पलटू शेख को जो छीन रहा था मंगल पांडेय की बंदूक

Mangal Pandey के बारे में लिखे वामपंथी इतिहास में नहीं मिलेगा इसका वर्णन.

Rahul Pandey
  • Apr 8 2021 10:09PM
1857 क्रान्ति के उद्घोष में जहाँ मंगल पाण्डेय ने ब्रिटिश सत्ता को हिला दी थी लेकिन उसी समय एक और बलिदानी को उनके बाद फांसी की सजा मिली थी जो उनके साथ खड़ा पूरे मामले को देख रहा था . अफ़सोस वामपंथी और झोलाछाप इतिहासकारों ने उनका जिक्र कही भी नहीं किया . 

अंग्रेजो के संहार के पूरे मामले में सिपाही इश्वरी प्रसाद पाण्डेय ने भी मंगल पाण्डेय का कहीं न कहीं से साथ दिया था जिन्हें बाद में मंगल पाण्डेय का साथी मान कर फांसी की सजा दे दी गयी थी .. मंगल पाण्डेय के हमले से घायल अंग्रेज अफसर ह्वीसन और वोघ जमीन में पड़ा ईश्वरी प्रसाद पाण्डेय से मदद के लिए चिल्ला रहा था लेकिन ईश्वरी ने न खुद उसकी मदद की और न ही किसी और कोई करने दी. 

भले ही कोई लाख कहे कि उस से देशभक्ति का सबूत न माँगा जाए लेकिन पल्टू शेख की गद्दारी मंगल पाण्डेय और ईश्वरी प्रसाद पाण्डेय जी की जांबाजी जैसी सदा सदा के लिए अमर ही रहेगी. पल्टू शेख ये वही गद्दार है जो बाद में मंगल पाण्डेय और ईश्वरी प्रसाद पाण्डेय की फांसी का कारण बना था क्योकि इसने इन दोनों योद्धाओं के खिलाफ गवाही दी थी . 

इतना ही नहीं जब मंगल पाण्डेय दोनों अग्रेज अफसरों का वध कर रहे थे तब इस पल्टू शेख ने न सिर्फ मंगल पाण्डेय की कमर को कस के पकड कर अंग्रेजो की मदद करनी चाहिए बल्कि खुद से भी मंगल पाण्डेय पर हमला किया ..लेकिन दो अंग्रेज अफसरों को अकेले मार गिराने वाले जांबाज़ मंगल पाण्डेय इन इस पल्टू शेख पर भी हमला किया जिसमे वो घायल हो कर भाग गया था और बाद में गवाही देने के लिए सामने आया था जिसके बाद मंगल पाण्डेय और ईश्वरी प्रसाद पाण्डेय को फांसी की सजा हुई थी . .. 

आज आजादी के उस उद्घोष की सभी भारतीयों को याद दिलाते हुए दो अंग्रेज अफसरों को मार गिराने वाले मंगल पाण्डेय और उनके सहयोगी ईश्वरी प्रसाद पाण्डेय को बारम्बार नमन और वन्दन करते हुए उस गद्दार पल्टू शेख को अनंत काल तक धिक्कार है जिसकी गद्दारी के चलते भारत माता को अपने दो जांबाज़ लाल खोने पड़े थे .. झोलाछाप इतिहासकारों से भी सवाल है कि भारत की जनता को ईश्वरी प्रसाद पाण्डेय की जांबाजी और पल्टू शेख की गद्दारी क्यों नहीं जानने दी ?

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

Koi lakh kahe ki sab mulle gaddar nahi hai par aise bahut kam jo deshpremi hai jayadater

  • Guest
  • Apr 9 2021 10:07:01:933AM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार