सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़िता के लिए न्याय की मांग, देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन

गैंगरेप पीड़िता के पिता और भाई सफदरजंग अस्पताल में धरने पर बैठे गए हैं. वहीं, पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर मुहिम छिड़ गई है.

Abhishek Lohia
  • Sep 29 2020 9:40PM
हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद लोगों में गुस्सा है. हैवानों को कड़ी से कड़ी से सजा देने की मांग हो रही है. गैंगरेप पीड़िता के पिता और भाई सफदरजंग अस्पताल में धरने पर बैठे गए हैं. वहीं, पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर मुहिम छिड़ गई है. ट्विटर पर हैशटैग 7 बजे 7 मिनट के नाम पर कैंपेन की शुरुआत की गई है. इसके अलावा पूरे देश में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. 

दरअसल, परिवार का कहना है कि हमारी अनुमति के बिना अस्पताल शव को कैसे ले जा सकता है. पीड़िता के भाई ने कहा कि पिता ने एंबुलेंस ड्राइवर से बात की है. एंबुलेंस यमुना एक्सप्रेस वे को पार कर चुकी है. पिता ने ड्राइवर से वापस आने और पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिखाने को कहा है. अगर ये सब नहीं होता है तो हाथरस में शव को कोई भी स्वीकार नहीं करेगा. परिवार वालों ने आरोप लगाया कि हमारी अनुमति के बिना शव को अस्पताल से ले जाया गया. हमें कोई पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिली. हमने किसी कागजात पर हस्ताक्षर नहीं किए.

सोशल मीडिया के अलावा जमीन पर भी लोगों का गुस्सा देखने को मिल रहा है. दिल्ली और हाथरस के अलावा लखनऊ, बनारस जैसे शहरों में भी लोग जमीन पर उतर गए हैं. पीड़िता की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने हाथरस के चंदपा थाने के पास सड़क जाम कर दी है. उन्हें समझाने के लिए पुलिस और प्रशासन के अधिकारी पहुंच गए हैं. 

पीड़िता के परिवार ने एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार के बयान पर प्रतिक्रिया दी है. परिवार का कहना है कि एडीजी झूठ बोल रहे हैं. पीड़िता ने 22 सितंबर को अपना पहला बयान दिया था और गैंगरेप की बात कही थी. इससे पहले किसी को नहीं पता था कि उनके साथ गैंगरेप किया गया था, क्योंकि वो बेहोश थीं.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार