सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

....आखिर एसएसपी भेष बहादुर शाह के प्रमोशन में कौन बना है रोड़ा

नेपाल के सशस्त्र प्रहरी बल में बतौर एसएसपी पद पर तैनात भेष बहादुर शाह जो दाङ्ग,रुपन्देहि, बारा, बाँके, मोरङ्ग, उदयपुर जैसे जिलों में रहकर बड़े बड़े बड़े अपराधियों को ठिकाने लगा दिया है। इन्होंने ने बाँके जिले में तैनाती के दौरा भारत नेपाल सीमा पर कई अपराधियो, तस्करों को चहर दिवारी तक पहुंचाने के साथ ही नेपाल से भारत मे और भारत से नेपाल में मादक मादक पदार्थ की बड़ी बड़ी खेपें बरामद की है।

Ram ji soni [email protected]
  • Oct 19 2021 6:28PM
भारत के पड़ोसी राष्ट्र नेपाल के सशस्त्र प्रहरी बल (APF) में बतौर एसएसपी पद पर तैनात भेष बहादुर शाह जो दाङ्ग,रुपन्देहि, बारा, बाँके, मोरङ्ग, उदयपुर जैसे जिलों में रहकर बड़े बड़े बड़े अपराधियों को ठिकाने लगा दिया है। इन्होंने ने बाँके जिले में तैनाती के दौरा भारत नेपाल सीमा पर कई अपराधियो, तस्करों को चहर दिवारी तक पहुंचाने के साथ ही नेपाल से भारत मे और भारत से नेपाल में मादक मादक पदार्थ की बड़ी बड़ी खेपें बरामद की है। इनके द्वारा कई खूंखार अपराधियों को पकड़ कर जेल भेजा गया। जिले में शांति,सुरक्षा व अमन चैन कायम रखने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाये गए।भारत और नेपाल के सीमा बैठक में भी भाग ले के दोनो देशो के सम्बन्ध को और मजबुत बनाने और दोनो देशो के मुख्य समस्या जैसे चोरी, तस्करी पर पूर्ण रूप से नियन्त्रण रखने के साथ ही नेपाल से भारत मे और भारत से नेपाल में , अपराधिंयो की घुसपैठ पर विराम लगाने के लिए काफी प्रयास किये गए। यही नही नेपाल से भारत में हो रही जाली नोटों की तस्करी,वन्यजीवों की तस्करी को जड़ से खत्म करने के भी प्रयास किये गए। साथ ही साथ साथ ही दोनों देशों के लोगों में आपसी भाई चारा कायम रखने के लिए ठोस निर्णय लिए गए। इसके सिवा नेपाली जिला तनहु, मुस्ताङ, सिन्धुपाल्चोक, चितवनमा में भी इन्होंने अपने काम का बेहद ईमानदारी पूर्वक किया जहां आज भी लोग भेष बहादुर शाह ने नाम की चर्चा करते हैं। उन्होंने कोरोना जैसे काल मे कोरोना रोकथाम और नियन्त्रण मे बहुत जिम्मेदारियां निभाई। इतने बड़े बड़े कामो को करने के बाद भी भेष शाह को अभी तक नेपाल सरकार की तरफ से कोई पदक तक नही मिल सका। इनसे चार वर्ष जूनियरों को प्रमोशन दिया गया। मगर इन्हें प्रमोशन तक नही दिया गया। एसएसपी भेष बहादुर शाह ने सुदर्शन न्यूज़ से वार्ता के दौरान अपनी पीड़ा ब्यक्त करते हुए कहा कि अभी भी सशस्त्र प्रहरी बल में एक डीआजी का पद रिक्त है। लेकिंन ऊपर के अधिकारियों द्वारा vacancy नही निकाली जा रही है। और मेरे जैसे सीनियर को रिटारमेंट होना पड़ रहा है। अगर रिक्त पड़े डीआईजी के पद को लिया जाए तो मै डीआजी बन सकता हूँ। लेकिन राजनीतिक नेताओ व उच्याधिकारियों के कारण यह सब हो रहा है। इसी वजह से कई सुरक्षा कर्मी नाराज़ भी हैं। जबकि भेष बहादुर शाह ने इसके लिए नेपाल के गृहमंत्री से भी मुलाकात की है। लेकिन अभी तक कोई हल नही निकल सका।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार