सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

दिल्लीः राजौरी गार्डन में फेक कॉल सेंटर का भंडाफोड़, मास्टरमाइंड समेत 17 गिरफ्तार

सटीक जानकारी के बाद पुलिस ने जब मौके पर रेड की तो वहां पर पुलिस को इस पूरे गोरखधंधे के मास्टरमाइंड साहिल दिलावरी समेत 17 लोग मिले.

Abhishek Lohia
  • Nov 6 2020 9:10PM
दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने एक फेक कॉल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए मास्टरमाइंड समेत 17 लोगों को गिरफ्तार किया है. जिनमें से वे लोग भी शामिल हैं जो कॉल सेंटर में बैठकर लोगों को अपना शिकार बनाने के लिए फोन किया करते थे.

पुलिस के मुताबिक इनके टारगेट पर विदेशी लोग होते थे. ये अपने सेंटर में बैठकर दुनिया के किसी भी हिस्से में किसी के कंप्यूटर पर पॉप अप भेज देते और फिर उस शख्स को फोन करते और उसे कहते कि आपके कंप्यूटर में वायरस अटैक हो गया है. और जल्द ही अगर आपने इसका उपाय नहीं किया तो न सिर्फ आपका पूरा डेटा बल्कि बैंक अकाउंट का डिटेल भी चोरी हो सकता है.

सामने वाला अगर इनकी बातों में आ जाता तो यह उससे उसके कंप्यूटर का कंट्रोल अपने हाथों में ले लेते और फिर वायरस क्लीन करने के नाम पर फीस वसूलते यह सारा धंधा पश्चिमी दिल्ली के राजौरी गार्डन से चल रहा था.

दिल्ली पुलिस को इस कॉल सेंटर के बारे में शिकायत मिली थी जिसके बाद से दिल्ली पुलिस की साइबर सेल इसकी जांच में जुटी हुई थी. पुलिस ने उस कंप्यूटर के बारे में पता लगाने की कोशिश की जहां से पॉप अप भेजे जाते थे और साथ ही पुलिस ने उन अकाउंट्स के भी डिटेल निकालने की कोशिश की जहां पर यह रकम जमा होती थी.

पुलिस को पता लगा कि जहां से पॉप अप भेजे जा रहे हैं वह इलाका पश्चिमी दिल्ली के राजौरी गार्डन का है. सटीक जानकारी के बाद पुलिस ने जब मौके पर रेड की तो वहां पर पुलिस को इस पूरे गोरखधंधे के मास्टरमाइंड साहिल दिलावरी समेत 17 लोग मिले. पुलिस ने तुरंत सब को हिरासत में ले लिया उस सेंटर पर 20 कंप्यूटर सेट भी लगे हुए थे.

पुलिस ने जब मौके पर रेड की तो उस समय ये लोग इंग्लैंड की एक डॉक्टर महिला को अपनी ठगी का शिकार बनाना चाहते थे और उससे लगातार बातचीत कर रहे थे फिर पुलिस ने उस फोन कॉल को ले लिया और उस महिला को समझाया यह सब कुछ झूठ है ना तो आपके कंप्यूटर में कोई वायरस अटैक हुआ है और न किसी तरीके से घबराने की कोई जरूरत है यह ठगों का एक तरीका है.

पुलिस ने बताया कि यही लोग पहले पॉप अप भेजते हैं और फिर वायरस क्लीन करने के नाम पर लोगों से मोटी रकम वसूलते हैं. पुलिस का कहना है कि पिछले 1 साल के अंदर इन लोगों ने 10 करोड़ से ज्यादा की ठगी की है.

पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपी साहिल पिछले 3 सालों से फेक कॉल सेंटर के जरिए विदेशी नागरिकों को अपनी ठगी का शिकार बना रहा था. एक दूसरे तरीके में ये लोग विज्ञापन देते और लोगों के पास मैसेज भेजते कि अगर प्रिंटर इंस्टॉलेशन में कोई दिक्कत है तो इनके कॉल सेंटर पर मुफ्त सहायता के लिए कॉल किया जा सकता है.

जैसे ही लोग इनके कॉल सेंटर पर फोन करते इनकी वही ठगी की पूरी कहानी शुरू हो जाती और वायरस के नाम पर डरा कर यह लोगों से रकम वसूल लेते.

पुलिस का कहना है कि एक अनुमान के मुताबिक पिछले 1 साल में लोगों ने यूएस और कनाडा के 2,200 से ज्यादा नागरिकों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है इस पूरे मामले की जांच अभी जारी है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

7 Comments

Hacked by the Dark Knight!

"To err is human but to err for government is propaganda" and you sir are guilty of it. Since you have completely compromised on the very basics and ethics of media it was about time. You had it coming a long time ago. The poison that you carry in your so called news has been making you blind to events happening around you. While you bunch of disgusting creatures get to decide the price for ads and subscription for the hatred that you market, if the farmers demand MSP for their honest crop they are Khalistani? Now that courts have acquitted the members of Tablighi Jamat will you apologise for the misinformation you spread? You won’t! I know you won’t because like a lab rat, you sir and guided by a single emotion of hatred for one community. So, stop seeing everything through that prism of hatred and this country will be a beautiful and safer place for you. You call yourself media so start acting like one otherwise the Dark Knight shall strike again on your hub of misinformation. And then it won’t be just a warning. For I sir am a symbol. A symbol of the Indian youth who is fed of the nonsense you serve us when we demand for a better future. A symbol for those who are fed up of this crony capitalism and godi media crisis that our country has plunged into. The masses are rising and the days of hatred are limited. In the end to quote a great philosopher, “Ab to sach bol do bhosdike!”

Kisaan Ekta Zindabad___#TeamKisaan

Viva Le Resistance!

  • Guest
  • Dec 27 2020 1:48:00:283AM

These are financial criminals. Andhra Pradesh

  • Guest
  • Dec 23 2020 2:26:31:573PM

Aise Criminals Ko kari se kari Saja milna Chahiye.

  • Guest
  • Nov 12 2020 7:41:46:070PM

जय श्रीराम

  • Guest
  • Nov 11 2020 8:15:55:060AM

यह कॉल करके आपका बैंक अकाउंट में पैसा गायब क्र देतें है उनको भू खोजकर निकलना चाहिए

  • Guest
  • Nov 10 2020 3:51:35:590PM

इस्लामिक आतंकवाद

  • Guest
  • Nov 8 2020 7:13:46:543PM

Very valuable information given by you. Thanks for Sharing . Sarathi

  • Guest
  • Nov 7 2020 10:06:02:267PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार