सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

20 साल से बंगाल में छिपा था बांग्लादेशी घुसपैठिया हसन गाजी ... चला रहा था मानव तस्करी का रैकेट .. इसीलिये चाहिए NRC

कुख्यात बांग्लादेशी मानव तस्कर हसन गाजी ने भारतीय मुस्लिम महिला से शादी भी कर ली है तथा पिछले 20 वर्षों रह रहा था.

Abhay Pratap
  • Jun 11 2021 2:42PM

भारत-बांग्लादेश सीमा पर मानव तस्करी के विरुद्ध लगातार चलाए जा रहे अभियान में बीएसएफ के जवानों ने एक बड़ी सफलता हासिल करते हुए उत्तर 24 परगना जिले में सीमा चौकी घोजाडांगा इलाके से एक ऐसे कुख्यात बांग्लादेशी मानव तस्कर को गिरफ्तार किया है जो अपनी पहचान छुपाकर पिछले 20 वर्षों से भारत में रह रहा था. तस्कर का नाम हसन गाजी है. वह फिलहाल उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट के इटिंडा में रह रहा था. उसके पास से दो मोबाइल फोन, भारतीय सिम कार्ड (एयरटेल), पांच बांग्लादेशी सिम कार्ड तथा कई सारे नकली आधार कार्ड बरामद हुए हैं.

हसन गाजी कोई पहला बांग्लादेशी घुसपैठिया नहीं है जो भारत में अवैध रूप से रहकर भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम दे रहा था. देश में ऐसे करोड़ों घुसपैठिये हैं जो हिंदुस्तान को दीमक की तरह संक्रमित कर रहे हैं. ऐसे ही घुसपैठियों को देश से बाहर खदेड़ने के लिए NRC जैसे देशव्यापी क़ानून की आवश्यकता है.

हसन गाजी मूल रूप से बांग्लादेश के सातखीरा जिले के भरखोली के मौलापारा का रहने वाला है. उसने भारतीय महिला खुखुमोनी बीबी से शादी भी की है तथा वह फर्जी सरकारी दस्तावेज हासिल कर कानूनी कार्रवाई से बचता रहा है. उसके पास दो अज्ञात महिला का फर्जी आधार कार्ड है जिसका उपयोग बांग्लादेशी महिलाओं को अवैध तरीके से सीमा पार करने तथा बीएसएफ के ड्यूटी लाइन क्रॉस करने के लिए वह करता है. उसने मानव तस्करी के सिंडिकेट का भी भंडाफोड़ किया तथा कई अन्य तस्करों के नाम बताए जो उसके साथ मानव तस्करी के रैकेट में शामिल हैं.

कड़ाई से पूछताछ में उसने मानव तस्करी के सिंडिकेट का भी भंडाफोड़ किया तथा कई अन्य तस्करों के नाम बताए जो उसके साथ मानव तस्करी के रैकेट में शामिल है. उसने बताया कि बांग्लादेश से महिलाएं व नाबालिग लड़कियां ज्यादा पैसे कमाने के लालच में जल्दी फंस जाती है जिसका वह और उसके साथी फायदा उठाते हैं. तस्कर हसन गाजी ने बताया कि हमारा काम उनको सीमा पार कराकर उन्हें आगे भेज देना है जिसके लिए हमें मोटी रकम मिल जाती है. गिरफ्तार तस्कर तथा जब्त सामग्री को आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए पुलिस स्टेशन बशीरहाट को सौंप दिया गया है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार