सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

मुक्केबाजों का शिविर जल्द शुरू होने की कोई संभावना नहीं

अब तक नौ मुक्केबाज (पांच पुरुष और चार महिला) तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं. तोक्यो ओलंपिक को महामारी के कारण 2021 तक स्थगित कर दिया गया है.

Abhishek Lohia
  • May 27 2020 12:15PM

मंत्रालय से हरी झंडी मिल चुकी है और मानक संचालन प्रक्रिया भी तैयार है, लेकिन भारतीय मुक्केबाजों के शिविर में अभ्यास शुरू करने की संभावना बहुत कम है क्योंकि राष्ट्रीय महासंघ कोविड-19 महामारी के चलते साजो सामान से जुड़ी कुछ चिंताओं से घिरा हुआ है. गृह मंत्रालय ने खेल परिसर और स्टेडियम खोलने की अनुमति दे दी है और भारतीय खिलाड़ी भी फिर से अभ्यास पर लौटने के लिये बेताब है जिनमें मुक्केबाज भी शामिल हैं जो पिछले दो महीनों से अपने घरों में ही फिटनेस ट्रेनिंग कर रहे हैं.

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के कार्यकाकारी निदेशक आर के साचेती ने कहा कि, ‘भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) टीम विभाग के पास हमारा प्रस्ताव लंबित है. एक बार हमें स्पष्ट तस्वीर मिल जाती है तो फिर अभ्यास शुरू करने पर आगे चर्चा करेंगे.' साचेती ने इस तरह से तुरंत शिविर शुरू नहीं होने के स्पष्ट संकेत दे दिए. मुक्केबाजों और भारतीय मुक्केबाजी महासंघ को सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करने होंगे और महामारी के बीच अभ्यास शुरू करने के जोखिमों को स्वीकार करना होगा। इसके बाद ही उन्हें अभ्यास के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) केंद्रों में वापस लौटने की अनुमति मिलेगी.

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘साइ की मानक संचालन प्रक्रिया के अनुसार आप रिंग में नहीं जा सकते. आप अभ्यास के लिये साथी को नहीं रख सकते. ऐसी स्थिति में संक्रमण के जोखिम के बीच उन्हें (मुक्केबाजों) एकत्रित करने का कोई मतलब नहीं होगा.' खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने इससे पहले कहा था कि कम से कम ओलिंपिक में जगह बना चुके खिलाड़ियों के लि इस महीने के आखिर तक अभ्यास शिविर खोलने की योजना है.

अब तक नौ मुक्केबाज (पांच पुरुष और चार महिला) तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं. तोक्यो ओलंपिक को महामारी के कारण 2021 तक स्थगित कर दिया गया है. भारत में ही एक लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं और 3000 से अधिक की मौत हो चुकी है. अधिकारी ने कहा, ‘‘इसमें बड़ा जोखिम है. पटियाला (जहां पुरुष शिविर लगाया जाता है) या दिल्ली (जहां महिला शिविर लगता है) में कोई भी मुक्केबाज नहीं है. अभी उनको इन स्थानों पर ले जाना भी मुश्किल होगा.'

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार