सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

विकास दुबे के खेत को कब्जाने की हो रही थी कोशिश ... फिर कानपुर पुलिस ने किया अपना काम तथा विकास दुबे की पत्नी को वापस मिली जमीन

बिकरू कांड के बाद जब पुलिस एनकाउंटर में विकास दुबे मारा गया तो इस बीच कुछ लोगों ने इसका फायदा उठाने का प्रयास किया तथा उसके खेतों पर कब्जा करने की कोशिश की

Abhay Pratap
  • Jun 12 2021 5:23PM

उत्तर प्रदेश के कानपुर के बिकरू गांव में एक साथ 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने के बाद पुलिस एनकाउंटर में मारे गए कुख्यात अपराधी विकास दुबे से जुडी ये खबर चर्चाओं में है. खबर के मुताबिक़, कानपुर के बिल्हौर के सकरवां गांव में विकास दुबे की 13 बीघा जमीन पर कब्जे की कोशिश की गई. इसके बाद विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई. शिकायत के बाद पुलिस एक्शन में आई तथा विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे को न्याय दिलाया अर्थात कब्जा की गई जमीन उन्हें वापस दिला दी गई.

जानकारी के मुताबिक़, सकरंवा गांव में बिकरू निवासी कुख्यात विकास दुबे ने फरवरी-2016 को उन्नाव के शशिकांत से 24 बीघा जमीन का बैनामा कराया था. खतौनी में भी विकास दुबे का नाम दर्ज हो गया था. जिसके बाद से विकास ही उस पर खेती करवाता था. बिकरू कांड के बाद जब पुलिस एनकाउंटर में विकास दुबे मारा गया तो इस बीच कुछ लोगों ने इसका फायदा उठाने का प्रयास किया. आरोप है कि सात जून को जब उनके बटाईदार विपिन, आनंद अवस्थी खेत में जुताई करने पहुंचे तो गांव निवासी श्रीकांत दीक्षित और प्रधान ने इसका विरोध किया तथा जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की.

इसके बाद विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने आईजी रेंज मोहित अग्रवाल से इसकी शिकायत की. शिकायत के बाद एक्शन में आई पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी. जांच में पता चला कि खेत विकास के ही हैं. लिहाजा स्थानीय पुलिस को निर्देशित किया गया कि खेत मालिक के परिजनों को वहां पर कब्जा दिलाएं. इसके बाद शुक्रवार को पुलिसकर्मी खेतों पर पहुंचे तथा ऋचा दुबे को खेत पर कब्जा वापस दिलाया. इस बारे में ककवन एसओ संतोष ओझा ने बताया कि नियमानुसार दस्तावेजों के आधार पर पूरी कार्रवाई की गई है.

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार