सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बैंक ऑफ इंडिया (BOI) को चौथी तिमाही में 3,571 करोड़ रुपये का घाटा

बैंक ऑफ इंडिया ने बयान में कहा कि डूबे कर्ज पर हाई प्रोविजनिंग की वजह से उसे घाटा झेलना पड़ा है।

Abhishek Lohia
  • Jun 25 2020 11:52PM
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India) को बीते वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में 3,571.41 करोड़ रुपये का एकल शुद्ध घाटा हुआ है। डूबे कर्ज के लिए ऊंचे प्रावधान की वजह से बैंक को बड़ा नुकसान हुआ है। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में बैंक ने 251.79 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। वहीं अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में बैंक ने 105.52 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था।

बैंक ऑफ इंडिया ने बयान में कहा कि डूबे कर्ज पर हाई प्रोविजनिंग की वजह से उसे घाटा झेलना पड़ा है। 2019-20 की चौथी तिमाही में डूबे कर्ज के लिए उसका प्रोविजन बढ़कर 7,316 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह आंकड़ा 1,503 करोड़ रुपये रहा था। चौथी तिमाही के दौरान बैंक की आय घटकर 12,215.78 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 12,293.59 करोड़ रुपये रही थी।

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान डूबे कर्ज और अन्य आकस्मिक खर्च के लिए प्रावधान 8,141.92 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 1,897.43 करोड़ रुपये रहा था। पूरे वित्त वर्ष 2019-20 में बैंक को 2,956.89 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है। इससे पिछले वित्त वर्ष 2018-19 में बैंक को 5,546.90 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।

वित्त वर्ष के दौरान बैंक की आय बढ़कर 49,066.33 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 45,426.70 करोड़ रुपये रही थी। मार्च, 2020 के अंत तक बैंक की ग्रॉस NPA कुल लोन का 14.78 प्रतिशत थीं। एक साल पहले यह 15.84 प्रतिशत पर थीं।

मूल्य के हिसाब से बैंक का ग्रॉस एनपीए 61,549.93 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। मार्च, 2019 के अंत में यह 60,661.12 करोड़ रुपये था। बैंक का शुद्ध एनपीए घटकर 3.88 प्रतिशत या 14,320.10 करोड़ रुपये रह गया, जो मार्च, 2019 के अंत तक 5.61 प्रतिशत या 19,118.95 करोड़ रुपये था। बीएसई में बैंक ऑफ इंडिया का शेयर 8.20 प्रतिशत के नुकसान से 50.40 रुपये पर बंद हुआ।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार