सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

3 मार्च - बलिदान दिवस धर्मयोद्धा रामबाबू गुप्ता जी.. उस शहर में बचा रहे थे धर्म जहाँ अल्पसंख्यक हो चुका है हिन्दू और आख़िर में प्राप्त की अमरता

सुरेश चव्हाणके जी ने कहा है - "जहाँ - जहां हिन्दू घटा, वहां - वहां देश बंटा".

Rahul Pandey
  • Mar 3 2021 12:15PM
हिन्दू नेताओं की हत्या का इतिहास आज का नहीं बल्कि बहुत पुराना है. उत्तर प्रदेश के मुस्लिम बहुल इलाके टांडा से आता है और उनका नाम है रामबाबू गुप्ता .. इन तमाम हत्याओं में एक हत्या रामबाबू गुप्ता की भी है जो २०१३ में केवल धर्म और हिन्दू आदि के नाम लेने के चलते मार दिए गये थे और इसको सुनियोजित तरीके से दबाया गया.

वीर बलिदानी रामबाबू गुप्ता जी तत्कालीन योगी आदित्यनाथ के समूह हिन्दू युवा वाहिनी के पदाधिकारी थे. रामबाबू गुप्ता के परिजों के अनुसार उनको तत्कालीन समाजवादी पार्टी का विधायक अजीमुल हक किसी भी हाल में और किसी भी रूप में पसंद नहीं करता था . 

उस समय समाजवादी पार्टी के विधायक की हैसियत क्या थी इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रामबाबू के परिजनों के चीखते रहने और दिल्ली तक की चौखट पर मत्था टेकने के बाद भी किसी भी पुलिस वाले में इतनी हिम्मत नहीं हुई कि वो एक दिन के लिए अजीमुल हक को बुला कर पूछताछ ही कर लेता .

उस समय रामबाबू गुप्ता केस एक एकलौते गवाह राममोहन गुप्ता को भी उनकी दुकान में घुस कर मार डाला गया था लेकिन यही अम्बेडकरनगर पुलिस कुछ भी नहीं कर पाई थी. धर्मरक्षा की आवाज उठा कर अमर हुए रामबाबू गुप्ता को आज उनके बलिदान दिवस पर शत शत नमन.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार