सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बांग्लादेश के बाद भारत के इस राज्य में हिंदू मंदिर पर हमला... नंदी और नागा की मूर्ति से तोड़फोड़

बताया जा रहा है कि आरोपितों ने नागा की मूर्ति और नंदी की पत्थर की मूर्ति को नुकसान पहुँचाया था। साथ ही बदमाशों ने अलमारी तोड़ दी और देवस्थान का सारा सामान फेंक दिया। मंदिर के द्वार को भी तोड़ दिया।

Prem Kashyap Mishra
  • Oct 19 2021 7:39PM

कर्नाटक में हो रहे हिन्दुओं के मंदिरों पर हमला रुकने का नाम नहीं ले रहा। कर्नाटक के मंगलुरु में शनिवार की देर रात बदमाशों ने बैकमपाडी करकेरा मूलस्थान जरांडाय दैवस्थान और नागा ब्रह्म पीठ में तोड़फोड़ की।मामला तब सामने आया जब भक्त मंदिर में पूजा-अर्चना करने पहुँचे। बताया जा रहा है कि आरोपितों ने नागा की मूर्ति और नंदी की पत्थर की मूर्ति को नुकसान पहुँचाया था। साथ ही बदमाशों ने अलमारी तोड़ दी और देवस्थान का सारा सामान फेंक दिया। मंदिर के द्वार को भी तोड़ दिया।

इसके बाद भक्तों ने मंदिर के प्रशासनिक समिति को सतर्क किया, जिसके बाद उन्होंने पुलिस को बुलाया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुँची और मामले की जाँच शुरू की। मंदिर में तोड़फोड़ के बाद स्थानीय लोगों ने धार्मिक स्थल की सुरक्षा की माँग की है। पुलिस को आशंका है कि यह लूट के प्रयास का मामला है। हालाँकि यह पहली बार नहीं है जब इस तरह की घटना सामने आई है।

आपको बता दें इससे पहले भी इस तरह की शर्मनाक घटना वहां से सामने आ चुकी है  पुलिस आयुक्त एन शशि कुमार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए बताया था कि इस साल जनवरी से मार्च के बीच, उल्लाल, कादरी और पांडेश्वर पुलिस थानों में पाँच मामले दर्ज किए गए थे, जिसमें बदमाशों ने कोरागज्जा कट्टे मंदिर के प्रसाद बॉक्स में एक कंडोम सहित आपत्तिजनक सामान डाला था। हालाँकि, पुलिस मंदिरों को अपवित्र करने के पीछे के दोषियों का पता नहीं लगा पाई थी। 

हालाँकि कुछ समय बाद अचानक रहीम और तौफीक दोनों पुजारियों से माफी माँगने के लिए मंदिर पहुँचे। शुरू में, पुजारियों को लगा कि दोनों मजाक कर रहे हैं, लेकिन आखिरकार, उन्होंने मंदिर में अपना जघन्य अपराध कबूल कर लिया और खुद को वहाँ के लोगों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया, जिन्होंने बाद में उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार