सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

FIFA विश्वकप का मेहमान बना आतंकी जाकिर नाइक...सुदर्शन न्यूज के अभियान के बाद ही जाकिर ने छोड़ा था भारत

इस्लामिक देश कतर में फुटबॉल विश्वकप शुरू हो चुका है. कतर ने दुर्दांत इस्लामिक आतंकी जाकिर नाइक को फीफा विश्वकप में आमंत्रित किया है.

Sumant Kashyap
  • Nov 22 2022 3:39PM

इस्लामिक देश कतर में फुटबॉल विश्वकप शुरू हो चुका है. कतर ने दुर्दांत इस्लामिक आतंकी जाकिर नाइक को फीफा विश्वकप में आमंत्रित किया है. बता दें कि कतर ही वह देश है जिसने सुदर्शन न्यूज के विरूद्ध अभियान चलाया था तथा सुदर्शन न्यूज के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके जी की गिरफ्तारी की मांग की थी.

वहीं, जाकिर नाइक वह इस्लामिक आतंकी है, जिसे सुदर्शन न्यूज ने एक्सपोज किया था. सुदर्शन ने जाकिर के विरुद्ध लगातार अभियान चलाया, जिसके बाद जाकिर नाइक को भारत छोड़कर भागना पड़ा था. बता दें कि अब उसी जाकिर नाइक को कतर अपना मेहमान बना रहा है. जाकिर नाइक वह आतंकी है जो लगातार हिंदू समाज के विरुद्ध जहर उगलता रहा है.

सुदर्शन के अभियान के बाद ही जाकिर नाइक देश छोडकर भागा था  

जानकारी के अनुसार, सुदर्शन के अभियान के बाद जब जाकिर नाइक देश छोडकर भागा था. जहां जाकिर नाइक को मलेशिया ने शरण दी थी. आपको बता दे कि जाकिर नाइक भारत में 1990 के दशक से अपनी हिंदू विरोधी और जहरीली इस्लामिक तालीम से चर्चा में आया था. वहीं, साल 2000 की शुरुआत में उसके कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए, जिसमें जाकिर नाइक ने कई भड़काऊ व हिंदू विरोधी भाषण दिए थे. 

मलेशिया में भी जाकिर के भाषण देने पर लगा है प्रतिबंधित  

बता दें कि जाकिर लगातार हिंदू विरोधी एजेंडे को बढ़ावा देता रहा था. जब सुदर्शन ने जाकिर के जहरीले कारनामों का चिट्ठा खोला तो 2016 में भारत ने जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन यानि IRF पर प्रतिबंध लगा दिया था. इसके बाद जाकिर नाइक देश छोड़कर भाग गया था. 'राष्ट्रीय सुरक्षा' का हवाला देते हुए 2020 से मलेशिया के अंदर भी जाकिर के भाषण देने से प्रतिबंधित लगा हुआ है.

जाकिर नाइक का नाम 2016 में ढाका विस्फोट में भी आया था

जाकिर नाइक सिर्फ जहरीले भाषण ही नहीं देता है बल्कि उसका नाम 2016 में ढाका विस्फोट में भी आया था. इस घटना के बाद जो आतंकी गिरफ्तार हुए थे, उन्होंने बताया था कि वे जाकिर के भाषणों से प्रभावित हैं. बता दें कि ढाका में हुए इस ब्ला्स्टि में 22 लोग मारे गए थे.


  

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

ताजा समाचार