सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

यदि आतंकवाद और अपराध की जड़ अशिक्षा होती तो पाकिस्तानी राजनयिक तो पढ़े लिखे थे... फिर असल समस्या कहाँ ?

छिड़ गई है एक नई चर्चा कि क्या है आतंक और अपराध की असली जड़..

Sudarshan News
  • Jun 2 2020 2:32PM

ISI के लिए जासूसी करते पकड़े गए दो वीजा असिस्‍टेंट को भारत करेगा निष्कासित, तिलमिलाया पाकिस्तानरा.. राजधानी दिल्ली में पाकिस्तान हाई कमिशन में दो अधिकारियों को रविवार को भारतीय अधिकारियों ने जासूसी करते हुए पकड़ा है. पाकिस्तान हाई कमिशन के वीजा सेक्शन में काम करने वाले आबिद हुसैन और ताहिर हुसैन को उस समय पकड़ा गया जब वह भारत विरोधी गतिविधि में लिप्त थे.

पाकिस्तान हाई कमिशन के इन दो अधिकारियों के बारे में पुलिस को सूचना मिली थी कि ये जासूसी में लिप्त है. जिसके आधार पर करोल बाग में जाल बिछाया उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के मुताबिक, इन अधिकारियों के नाम आबिद हुसैन (42) और ताहिर खान (44) हैं, दोनों वीजा असिस्टेंट के तौर पर हाई कमिशन में काम कर रहे थे और ISI ऑपरेटिव हैं. आरोपी पाकिस्तानी राजनयिक की कार में करोल बाग आये थे. यह जानकारी भी सामने आई है कि पाकिस्तान उच्चायोग उक्त कार को बेचने की कोशिश कर रहा था.

पाकिस्तान अधिकारी के फर्जी आधार कार्ड की भी तस्वीर सामने आई है. जो कि पाकिस्तान की मंशा और झूठ को बेनकाब कर रही है. भारतीय अधिकारियों द्वारा आज (रविवार को) करोल बाग इलाके में मारी गई रेड के बाद पाकिस्तानी हाई कमिशन के अधिकारी आबिद हुसैन के पास से फर्जी आधार कार्ड बरामद हुआ. इस आधार कार्ड में आबिद हुसैन की फोटो थी, लेकिन नाम नासीर गोतम लिखा हुआ था. सूत्रों के मुताबिक इनके पास से भारतीय सेना से जुड़े कुछ डॉक्यूमेंट्स भी बरामद हुए हैं.

यह ऑपरेशन दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और मिलिट्री इंटेलिजेंस (MI) के जरिए संयुक्त रूप से चलाया गया. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि भारत ने इस मामले में कड़ा विरोध दर्ज कराया है और पाकिस्तान को आपत्ति पत्र जारी किया है. इस बीच, पाकिस्तान ने अपने अधिकारियों पर लगाये गए आरोपों को गलत करार देते हुए कार्रवाई की निंदा की है. पाकिस्तान का कहना है कि यह पूर्व नियोजित मीडिया अभियान है, ताकि उसे बदनाम किया जा सके. उसका दावा है कि नई दिल्ली में उसके उच्चायोग ने हमेशा अंतरराष्ट्रीय कानून और राजनयिक मानदंडों के अनुसार काम किया है.

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार