सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

लखीमपुर खीरी प्रकरण में अभी तक क्या क्या घटित हुआ... जानिए पूरा प्रकरण

लखीमपुर खीरी मामले में आज कई घटनाक्रम जुड़े हैं। जानिए पूरा मामला ...

रजत के मिश्र Twitter- rajatkmishra1
  • Oct 4 2021 5:50PM

लखीमपुर खीरी में अबतक कुल 9 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। इनमें 4 की मौत गाड़ी चढ़ाने से जबकि बाकी की बवाल में हुई है। किसानों का आरोप है कि वो कृषि कानूनों को लेकर विरोध कर रहे थे तब केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा ने उन पर गाड़ी चढ़ा दी। इसके बाद प्रदेश ही नहीं देश भर में बवाल मचा हुआ है। वहीं मंत्री के बेटे आशीष का कहना है कि वो गाड़ी में नही थे।

इस घटना के बाद देश भर से राजनीतिक दलों के नेताओं ने लखीमपुर का रुख कर लिया है। देर रात से ही नेताओं ने लखीमपुर जाने की कोशिश शुरू कर दी। हालांकि किसी भी दल के नेता को लखीमपुर जाने की इजाजत नहीं दी जा रही। किसी को हाउस अरेस्ट किया गया है तो किसी को रास्ते में हिरासत में लिया गया।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा कल रात ही लखनऊ पहुंच गई। देर रात लखनऊ से लखीमपुर के लिए रवाना हुई। पुलिस ने पहले उन्हें लखनऊ के कौल हाउस पर ही रोकने की कोशिश की, लेकिन प्रियंका नहीं रुकी। पुलिस से तीखी नोकझोंक के बाद प्रियंका लखीमपुर के लिए रवाना हुई। हालांकि पुलिस ने उन्हें सीतापुर के हरगांव से हिरासत में ले लिया। प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता धरने पर बैठ कर प्रदर्शन करने लगे। काफी देर तक धरने पर रहने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया। इस बीच उनकी पुलिस से धक्का-मुक्की भी हुई। उन्होंने पुलिस और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा भी देर रात अपने लखनऊ आवास से लखीमपुर के लिए निकल रहे थे। लेकिन उससे पहले ही उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया गया। इसके बाद सतीश मिश्रा की पुलिस से काफी बहस हुई और उन्होंने कहा कि अगर कोई ऐसा आदेश है तो उन्हें दिखाया जाए। बाद में संयुक्त पुलिस आयुक्त की तरफ से लिखित आदेश मिलने के बाद सतीश मिश्र ने अपना कार्यक्रम स्थगित किया।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह भी देर रात लखीमपुर के लिए रवाना हुए। लेकिन उन्हें सीतापुर में ही रोक दिया गया। संजय सिंह को हिरासत में लेने के बाद पुलिस लाइन में रखा गया। लखीमपुर जा रहे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने सीतापुर के खैराबाद टोल प्लाजा पर रोक लिया। इस बीच उनकी पुलिस से तीखी बहस हुई। पुलिस चंद्रशेखर को हिरासत में लेने के बाद सीतापुर पुलिस लाइन ले आयी।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को आज सुबह लखीमपुर के लिए निकलना था। लेकिन इससे पहले ही उनके घर के बाहर पुलिस का कड़ा पहरा बैठा दिया गया। अखिलेश यादव ने लखीमपुर के लिए निकलने की कोशिश की तो उन्हें भारी पुलिस बल ने रोक दिया। इस दौरान बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता भी अखिलेश यादव के आवास के बाहर धरना प्रदर्शन करने लगे। जब पुलिस ने जाने की अनुमति नहीं दी तो अखिलेश यादव अपने आवास के सामने ही सड़क पर धरने पर बैठ गए। काफी देर तक धरने पर बैठे रहने के बाद पुलिस ने अखिलेश यादव को भी हिरासत में ले लिया।

इस घटना के विरोध में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखविंदर एस रंधावा को भी आज लखीमपुर पहुंचना था। लेकिन उनके प्लेन के लखनऊ में उतरने पर रोक लगा दी गई है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने एयरपोर्ट अथॉरिटी को लिखे पत्र में कहा है कि दोनों को लखनऊ में उतरने की अनुमति न दी जाए।

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी और उनके बेटे आशीष मिश्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। आशीष मिश्र के खिलाफ हत्या और गैर इरादतन हत्या की धारा में मामला दर्ज किया गया है। आशीष मिश्र के खिलाफ दर्ज FIR में 15 से 20 अज्ञात को भी शामिल किया गया है।

इस घटना के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत देर रात लखीमपुर पहुंचे। वहीं प्रदेश भर में इसे लेकर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। आज भी किसान जगह-जगह धरने प्रदर्शन की तैयारी में हैं। विभिन्न राजनीतिक दलों ने भी आज प्रदेश भर के जिला मुख्यालयों पर धरने प्रदर्शन की तैयारी की है।

लखीमपुर के घटना के चलते सीएम योगी ने अपने आज के सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। सीएम खुद पल-पल की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि जनपद लखीमपुर खीरी में घटित हुई घटना अत्यंत दुःखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रदेश सरकार इस घटना के कारणों की तह में जाएगी और घटना में शामिल तत्वों को बेनकाब करेगी व दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करेगी। मौके पर शासन द्वारा अपर मुख्य सचिव नियुक्ति, कार्मिक एवं कृषि, एडीजी कानून-व्यवस्था, आयुक्त लखनऊ व आई.जी. लखनऊ मौजूद हैं तथा स्थिति को नियंत्रण में रखते हुए घटना के कारणों की गहराई से जांच कर रहे हैं। घटना में लिप्त जो भी जिम्मेदार होगा, सरकार उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही करेगी। सीएम ने कहा क्षेत्र के सभी लोगों से अपील है कि वे किसी के बहकावे में न आएं व मौके पर शान्ति-व्यवस्था कायम रखने में अपना योगदान दें। किसी प्रकार के निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले मौके पर हो रही जांच तथा कार्यवाही का इन्तजार करें।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार