सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत बोले 6.25 करोड़ ग्रामीण आवासों में पहुंच रहा नल से जल

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री शेखावत ने दी जानकारी, 16 महीनों में 3 करोड़ नए कनेक्शन लगे

Namit Tyagi ,twiter: @NamitTyagi1
  • Jan 6 2021 7:15PM
देश के 32 प्रतिशत ग्रामीण परिवारों को पानी की जद्दोजहद से मुक्ति मिल गई है। सभी के घर नल से जल पहुंचाया जा चुका है। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट कर जानकारी दी कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत 1 जनवरी 2021 तक देश के 6.25 करोड़ (कुल 32.62%) परिवारों तक नल से जल पहुंचाया जा चुका है। 15 अगस्त 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले की प्राचीर से जल जीवन मिशन की घोषणा की थी। राज्यों के सहयोग से चला जा रही 3.6 लाख करोड़ रुपए की इस योजना का उद्देश्य साल 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को कार्यात्मक घरेलू नल जल कनेक्शन (एफएचटीसी) प्रदान करना है। जब योजना की घोषणा हुई थी, तब देश के 18.93 करोड़ ग्रामीण आवासों में से 3.23 करोड़ (17 प्रतिशत) के पास ही नल जल कनेक्शन था।

1 जनवरी तक 26 जिले, 457 ब्लॉक, 34,919 पंचायत और 65,627 गांव ‘हर घर जल’ बन गए थे। 3 जनवरी को हरियाणा का कुरुक्षेत्र देश का 27वां हर घर जल जिला बन गया है। जिले के 1,39, 720 ग्रामीण आवासों में नल से पर्याप्त, शुद्ध और नियमित पानी की आपूर्ति सुनिश्चित कर ली गई है। योजना शुरू होने के 16 माह में गोवा 100 प्रतिशचत एफएचटीसी और हर घर जल वाला देश का पहला राज्य बन चुका है।

विशेष बात यह है कि राज्यों की प्राथमिकता में जल गुणवत्ता प्रभावित इलाकों, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, अधिकांश गांव, आकांक्षी जिले, सूखे के संभावित गांव और रेगिस्तानी क्षेत्रों तथा गुणवत्ता प्रभावित स्थान हैं। राज्य फ्लोराइड और आर्सेनिक से प्रभावित क्षेत्रों में जल्द से जल्द पाइप वाले जल की आपूर्ति सुनिश्चित करने की दिशा में काम कर रहे हैं।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार