सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Virat Kohli: T-20 के बाद छोड़ सकते है RCB की कप्तानी? इस बात पर निर्भर करेगा फैसला

आईपीएल में उनका रिकॉर्ड खराब है। ना तो वो टीम को एक भी खिताब दिला सके हैं और उनका जीत प्रतिशत भी 50 फीसदी से कम है।

Abhinya Goyal
  • Sep 18 2021 2:41PM

गुरूवार 16 सितंबर को टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने एक बड़ा एलान कर दिया जिसमें उन्होंने अपनी टी-20 कि कप्तानी की पदवी छोड़ दी है। विराट ने बताया था कि बतौर कप्तान ये टी 20 वर्ल्ड कप उनका आखिरी टूनामेंट होगा।इसके बाद वो वनडे और टेस्ट टीम की कप्तानी करेंगे और टी20 टीम में बतौर बल्लेबाज देश की सेवा करेंगे। ये उन्होंने इंस्टाग्राम और ट्विटर पर पोस्ट शेयर करते हुए ये जानकारी दी थी। जिसके बाद अब फैंस के जहन में एक सवाल आया है कि क्या अब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर भी अपने कप्तान को बदलने के बारे में सोचेगी? क्या विराट कोहली खुद बैंगलोर की कमान भी छोड़ सकते हैं? 

आपको बता दें, आईपीएल में उनका रिकॉर्ड खराब है। ना तो वो टीम को एक भी खिताब दिला सके हैं और उनका जीत प्रतिशत भी 50 फीसदी से कम है। साल 2013 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कमान संभालने वाले विराट कोहली ने महज 60 मैच जीते हैं और 65 में टीम को हार मिली है। विराट कोहली का जीत प्रतिशत सिर्फ 48.04 है। वहीं दूसरी ओर मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा की बात करें तो ये खिलाड़ी सबसे ज्यादा 60.16 फीसदी मैच जीता है और मुंबई इंडियंस को वो पांच बार आईपीएल चैंपियन बना चुके हैं।

बीसीसीआई के एक अधिकारी से बातचीत पर उन्होंने बताया कि विराट कोहली के रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी से आगे बढ़ने के संकेत दिए हैं। अधिकारी ने कहा, ''टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने से वर्कलोड मैनेज नहीं होता। इंडिया ने साल में 8 टी20 मैच खेले, जबकि आईपीएल में मैचों की संख्या ज्यादा है।  आईपीएल में कप्तानी करना आसान बात नहीं है। यह टूर्नामेंट दिनो दिन और मुश्किल होता जा रहा है और फ्रेंचाइजियों की उपेक्षा और बढ़ती जा रही है।"

बीसीसीआई के अधिकारी का मानना है कि टी20 फॉर्मेट में टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने से वर्कलोड बिल्कुल कम नहीं हुआ है। इस बात की संभावना काफी अधिक है कि विराट कोहली इस साल आईपीएल नहीं जीत पाने पर आरसीबी की कप्तानी छोड़ने का एलान कर सकते हैं। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोहली का बतौर कप्तान आरसीबी के लिए बेहद खराब रिकॉर्ड रहा है। वह 2013 से कप्तानी कर रहे हैं पर अभी तक एक बार भी टीम को खिताब जीताने में सफल नहीं हुए हैं। 2016 के बाद आरसीबी की टीम ने पिछले साल प्लेऑफ में क्वालीफाई किया था। 2017 और 2019 में वह अंक तालिका में सबसे नीचे रहे थे जबकि 2018 में टीम छठे स्थान पर रही थी। 


 


सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार