सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने हरिद्वार की सड़क सुरक्षा समिति के साथ बैठक की ।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा 18 जनवरी से 17 फरवरी तक राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के आयोजन पर हरिद्वार की सड़क सुरक्षा समिति के साथ बैठक की और सड़क सुरक्षा के लिए किए जा रहे कार्यों का ब्यौरा लिया.

Alok Jha
  • Jan 21 2021 7:57PM
केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा 18 जनवरी से 17 फरवरी तक राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के आयोजन पर हरिद्वार की सड़क सुरक्षा समिति के साथ बैठक की और सड़क सुरक्षा के लिए किए जा रहे कार्यों का ब्यौरा लिया.

इस बैठक में देहरादून के जिला पंचायत अध्यक्ष, देहरादून के मेयर, जनपद के विधायक एवं देहरादून के जिला मजिस्ट्रेट ने भाग लिया. बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, "सड़क सुरक्षा एक बहु-क्षेत्रीय और बहु-आयामी मामला है, जिसके लिए विभिन्न स्तरों पर बहु-आयामी दृष्टिकोण की आवश्यकता है. इसलिए सड़क सुरक्षा के लिए विभिन्न स्‍टेकहोल्‍डर जैसे राज्य सरकार के विभिन्‍न विभाग (परिवहन, याततायता पुलिस, शहरी विकास, स्‍थानीय प्राधिकरण, पीडब्‍ल्‍यूडी, स्‍वास्‍थ्‍य शिक्षा, आदि), वाहन निर्माता, ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन को इस शानदार पहल के लिए मिलकर काम करना चाहिए."

उन्होनें सड़क सुरक्षा माह के महत्त्व के बारे में बताते हुए डॉ निशंक ने कहा, "आम जनता के बीच जागरूकता पैदा करने और सड़क प्रयोक्‍ताओं की सुरक्षा में सुधार करने तथा बहुमूल्‍य जीवन बचाने के लिए प्रभावी उपाय करने हेतु सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय प्रत्‍येक वर्ष सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन करता रहा है. अब तक हमने 31 सड़क सुरक्षा सप्ताह आयोजित किए हैं. इस वर्ष हम देश भर में 18 जनवरी से 17 फरवरी, 2021 तक राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का आयोजन कर रहे हैं जिसमें हम सड़क दुर्घटनाओं के विभिन्‍न कारणों पर स्कूल और कॉलेज के छात्रों, ड्राइवरों और अन्य सभी सड़क प्रयोक्‍ताओं के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करेंगे और उन्हें सड़क दुर्घटनाओं से बचने के उपायों के बारे में बताएँगे."
 डॉ पोखरियाल ने कहा कि भारत में सुरक्षित सड़क संस्कृति विकसित किया जाना आवश्यक है. लोगों में ड्राइविंग के साथ जिम्मेदारी और सड़क अनुशासन की भावना भी पैदा की जानी चाहिए. हमें ऐसा राष्ट्रीय मिशन विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

उन्होनें सडकों को सुरक्षित बनाने के लिए सभी से एकजुटता दिखाने का आहवाहन किया और कहा कि सरकार देश के नागरिकों के लिए सुरक्षित सड़कें बनाने के लिए कार्य कर रही है लेकिन सरकार अकेले सड़क पर होने वाली घातकताओं को कम नहीं कर सकती है, इसके लिए आप सभी के सहयोग, भागीदारी और योगदान की आवश्यकता है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार