सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

UNESCO, UNICEF ने तालिबान काे दी चेतावनी, कहा- अफगानी लड़कियों की स्कूलिंग पर प्रतिबंध, शिक्षा के अधिकार का हनन

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) और संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने तालिबान काे चेताया है. दाेनाें ने कहा कि अफगान लड़कियों के स्कूलों को बंद करना शिक्षा के मौलिक अधिकार का उल्लंघन है।

Geeta
  • Sep 20 2021 10:18AM

तालिबान ने लड़कियाें की स्कूली शिक्षा पर एक बार फिर से राेक लगाते हुए अपना वही पुराना रंग दिखाया है. जब तालिबान के राज में महिलाओं काे पढ़ने का अधिकार नही था. वहीं इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) और संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने तालिबान काे चेताया है. दाेनाें ने कहा कि अफगान लड़कियों के स्कूलों को बंद करना शिक्षा के मौलिक अधिकार का उल्लंघन है। 

एक रिपोर्ट के अनुसार, यूनेस्को के महानिदेशक ऑड्रे अज़ोले ने एक बयान में कहा कि अगर लड़कियों के स्कूल बंद रहते हैं, तो यह लड़कियों और महिलाओं के लिए शिक्षा के मौलिक अधिकार का एक बड़ा उल्लंघन होगा। यूनेस्को ने चेतावनी दी है यदि लड़कियों को शिक्षा के सभी स्तरों पर तेजी से स्कूल लौटने की अनुमति नहीं दी जाती है तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं।

ऑड्रे अज़ोले ने कहा- विशेष रूप से, माध्यमिक विद्यालय में लड़कियों की देरी से वापसी से उन्हें शिक्षा और अंततः जीवन में पीछे छूटने का जोखिम हो सकता है। यह लड़कों और लड़कियों के बीच सीखने की असमानताओं को और बढ़ा सकता है, और अंततः लड़कियों की उच्च शिक्षा और जीवन के अवसरों तक पहुंच में बाधा उत्पन्न कर सकता है।

यूनेस्को और यूनिसेफ दोनों ने कहा कि अफगानिस्तान ने शिक्षा के क्षेत्र में, विशेष रूप से लड़कियों की शिक्षा में महत्वपूर्ण लाभ अर्जित किया है और उन्हें संरक्षित किया जाना चाहिए। अज़ोले ने कहा कि शिक्षित लड़के और लड़कियां अफगानिस्तान के भविष्य को आकार देंगे और उन्हें शिक्षा के अधिकारों का समान रूप से लाभ उठाना चाहिए।

रिपाेर्ट के मुताबिक दाेनाें ने कहा अफगानिस्तान का भविष्य शिक्षित लड़कियों और लड़कों पर निर्भर करता है। इसलिए, हम अफगानिस्तान में सभी संबंधित अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने का आह्वान करते हैं कि सभी बच्चों को स्कूलों के धीरे-धीरे फिर से खोलने की घोषणा के ढांचे में शिक्षा की निर्बाध पहुंच हो। 

यूनेस्को और यूनिसेफ ने कहा कि शिक्षा का अधिकार शिक्षार्थियों, विशेष रूप से लड़कियों को, इस महत्वपूर्ण समय में बनाए रखा जाना चाहिए। इस बीच, यूनिसेफ ने भी अफगान लड़कियों के अस्पष्ट भाग्य और उनकी शिक्षा पर अपनी चिंता व्यक्त की है। स्कूलों को धीरे-धीरे फिर से खोलने का स्वागत करते हुए, यूनिसेफ प्रमुख हेनरीएटा फोर ने एक बयान में कहा कि "हम इस बात से बहुत चिंतित हैं कि इस समय कई लड़कियों को वापस जाने स्कूल की अनुमति नहीं दी जा रही।"

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार