सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

दिल्ली सरकार का तुगलकी फरमान, दिल्ली के अस्पतालों में होगा सिर्फ दिल्लीवालों का इलाज

अब दिल्ली सिर्फ दिल्लीवासियों की होगी, दिल्ली सरकार के नए फैसले के बाद दिल्ली सरकार के अस्पतालों और प्राइवेट अस्पतालों के सिर्फ दिल्लीवालो का इलाज होगा

Namit Tyagi
  • Jun 7 2020 1:32PM
देश मे कोरोना संकट के चलते सभी राज्य अपने यहाँ स्थिती को बेहतर करने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है इसी बीच दिल्ली सरकार ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण के तेज़ी से बढ़ते मामलों के बीच बड़ा फैसला किया है. अब दिल्ली में दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियो का इलाज होगा. जबकि दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को इसका ऐलान किया, साथ ही केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार के हॉस्पिटल जैसे एम्स, सफरदरजंग और राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) में सभी लोगों का इलाज हो सकेगा, जैसा अबतक होता भी आया है। हालांकि, कुछ प्राइवेट हॉस्पिटल जो स्पेशल सर्जरी करते हैं जो कहीं और नहीं होती उनको करवाने देशभर से कोई भी दिल्ली आ सकता है, उसे रोक नहीं होगी। दिल्ली में कोरोना की रफ्तार बढ़ रही है इसे रोकने के लिए ये दिल्ली सरकार की तमाम कोशिशे अभी तक फेल साबित हुई है

दिल्ली सरकार का कहना अभी दिल्ली में 60 से 70 प्रतिशत बाहर के लोग दिल्ली के हॉस्पिटलों में भर्ती रहे। लेकिन इस वक्त दिल्ली में समस्या है, कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे। ऐसी स्थिति में पूरे देश की जनता के लिए हॉस्पिटल खोल दिए तो दिल्ली के लोग कहां जाएंगे। केजरीवाल ने बताया कि पांच डॉक्टर्स की कमिटी बनाई गई थी जिन्होंने माना कि फिलहाल बाहर के मरीजों को रोकना होगा। केजरीवाल के मुताबिक, कमिटी ने कहा है कि दिल्ली को जून के अंत तक 15 हजार कोविड बेड चाहिए होंगे। फिलहाल दिल्ली के पास 9 हजार बेड हैं और अगर हॉस्पिटल सबके लिए खोल दिए तो ये 9 हजार तीन दिन में भर जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि 7.5 लाख लोगों ने उन्हें सुझाव दिए, जिसमें से 90 प्रतिशत ने कहा कि फिलहाल कोरोना-कोरोना तक दिल्ली से हॉस्पिटल दिल्लीवालों के लिए होने चाहिए। आपको बता दे कि अनलॉक1 में दिल्ली रोजाना लगभग 1000 से ऊपर कोरोना के मामले सामने आ रहे है
8 जून से खुल जाएंगे दिल्ली के सभी बॉर्डर

1 सप्ताह तक दिल्ली की सीमाओं को बंद करने के बाद अब अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 8 से दिल्ली से बाहर के सभी लोगों के लिए बॉर्डर खोल दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कल से दिल्ली में रेस्टोरेंट, मॉल्स और धार्मिक स्थल खोले जाएंगे, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सबको अनिवार्य है अब सवाल ये कि आखिर 8 जून से सब कुछ खुल जाने के बाद कोरोना का मीटर कितनी रफ्तार पकड़ता है 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार