सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

'CM की पाती की नहीं धरातल पर व्यवस्था सुधारने की आवश्यकता है, BJP का आरोप, उधर सरकार ने कहा-'सब व्यवस्था अच्छी है'

नेता प्रतिपक्ष ने मांगा सरकार से जवाब

योगेश मिश्रा
  • Jun 4 2020 9:26PM
छत्तीसगढ़ में क्वॉरेंटाइन सेंटरों में लगातार हो रही मौतों पर छत्तीसगढ़ की सियासत गरमा गई है। सरकार के मुखिया भूपेश बघेल का कहना है कि क्वॉरेंटाइन सेंटरों में रहने वाले लोगों की व्यवस्था का ध्यान रखा जा रहा है। वहीं इसके इतर भाजपा ने इस पूरे मामले में सरकार पर बड़ी लापरवाही का आरोप लगाया है और कोरोना के बढ़ते हुए मामले पर सरकार को पूर्णरूपेण दोषी ठहराया है।
हाल ही में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि सभी क्वारेंटाईन सेंटरों में नोडल अधिकारी तैनात किए जाएं और रह रहे लोगों की सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए। रह रहे सभी लोग मास्क लगाए और सोशल-फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वहीं क्वारंटाइन सेंटर की बदहाली बदइंतजामी और क्वारंटाइन के बाद घर पहुंच रहे मजदूरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने एवं प्रदेश में बढ़ती कोरोना मरीजों के ग्राफ़ पर चिंता जाहिर करते हुए नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी सरकार पर गंभीर लापरवाही का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि लाखों रुपये खर्च कर मुख्यमंत्री की पाती अखबारों में छपवा कर प्रदेश के भाइयों बहनों को संदेश देने का क्या फायदा जब धरातल पर ही गंभीरता नहीं दिखती। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस संकट की घड़ी में धरातल पर काम करने क्वारंटाइन सेंटर की बदहाल व्यवस्था दूर करने और क्वारंटाइन किए गए मजदूरों की रिपोर्ट आने से पूर्व मजदूरों को घर नहीं भेजे जाने का कड़ा निर्देश जारी करने का आग्रह किया है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि बीते कुछ दिनों से लगातार क्वारंटाइन अवधि पूरा कर घर लौटे मजदूरों की दूसरी रिपोर्ट पॉजिटिव आने की खबरें आ रही है। बीते दिनों जांजगीर चंपा में घर लौट चूंके कुछ लोगों की रिपोर्ट 5 दिन बाद पॉजिटिव आयी वैसे ही कोरबा से घर लौटे लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी यह न सिर्फ गंभीर और चिंता का विषय है अपितु प्रदेश को खतरे में डालने वाला विषय है। इन मामलों से क्वारंटाइन सेंटर्स की व्यवस्था और सरकार की गंभीरता पर प्रश्नचिन्ह खड़ा होता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की पाती लिखने से प्रदेश के भाइयों और बहनों में विश्वास नहीं जागता। प्रदेश के भाइयों और बहनों की चिंता करनी है तो धरातल पर व्यवस्था सुधारनी होगी। उन्होंने क्वारंटाइन सेंटर्स में बीते दिनों हुई सर्पदंश, आत्महत्या और स्वास्थ्य सुविधाओं के आभाव में हुई प्रदेश के भाइयों बहनों की मौत के लिए भी सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है।
 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार