सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

भाईचारे की नई इबादत लिख गये कभी पलायन के लिए चर्चा में रहे शामली के 10 हिन्दू. बीमार बुजुर्ग नूर मोहम्मद को खून देने दौड़ पड़े अस्पताल

धर्मनिरपेक्षता अपने शीर्षतम स्तर पर शामली में.

Sudarshan News
  • Apr 27 2020 8:49PM
ये वो शामली जिला है जो अभी कुछ साल पहले वही के कैराना क्षेत्र में होने वाले पलायन के चलते देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के परिदृश्य पर आ गया था. इसी शामली क्षेत्र में मुकीम काला जैसे अपराधियों के खौफ से कभी लोग पलायन कर रहे थे, लेकिन वहां के हिंदू समाज की एक जन्मजात व बेहद खास आदत यह रही कि उन्होंने खुद को सेकुलरिज्म से एक पल के लिए भी कभी अलग नहीं किया. इतना ही नहीं , यहाँ के हिन्दू अभी भी लिख रहे हैं धर्मनिरपेक्षता की वह गाथा जो शायद उन्हें सेकुलरिज्म के इतिहास में आने वाले समय में अमर कर देगी. 

मामला जनपद शामली का है जहाँ के काफी समय से बीमार चल रहे एक बुजुर्ग नूर मोहम्मद पिछले एक हफ्ते से काफी गंभीर हालत में पहुच गये थे ..लेकिन इसी बीच दो दिन से ज्यादा तबीतय खराब होने पर उनके परिजनों ने उन्हें स्थानीय नर्सिंग होम में इलाज के लिए भर्ती करावाया. डाक्टरों द्वारा नूर मोहम्मद की विधिवत जांच के बाद सामने आया कि नूर मोहम्मद पीलिया से पीड़ित हैं और यदि उन्हें जल्द रक्त न मिला तो हालात और गंभीर होंगे ..असल में काफी दिनों से बीमार होने के चलते नूर मोहम्मद में खून की भारी कमी हो गई थी तो डाक्टर ने उसके परिजनों से दस यूनिट ब्लड अरेंज करने को कहा था। 

लॉकडाउन के चलते इतनी यूनिट की जरुरत जान कर नूर मोहम्मद के परिवार वालों के पैरों तले से जमीन खिसक गई। इसके बाद डॉक्टर ने पीड़ितों का संपर्क ब्लड बैक संचालक अजय से कराया। अजय के प्रयासों के चलते चंद घंटों में ब्लड का प्रबंध हो गया। दस हिंदू समाज के लोग खून की जरुरत सुनकर बिना किसी संकोच के लॉकडाउन में भी ब्लड देने निकल पड़े। इनमें गृहणी सीमा मित्तल से लेकर कल्क्ट्रेट कर्मचारी मनोज कुमार तक शामिल हैं। वहां ये आपसी सौहार्द देख सभी की आंखे नम हो गई। ब्लड बैंक प्रबंधक अजय ने बताया कि जागलान ब्लड ग्रुप शामली के नाम से एक व्हाट्सऐप ग्रुप है। इस ग्रुप में कई डोनर जुड़े हुए है जो समाज सेवा के रूप में बिना किसी जात पात और भेदभाव के रक्त दान कर लोगों को नया ​जीवन प्रदान करते हैं। इसी का उदाहरण है शनिवार को सीमा मित्तल, सागर, केशव, सतेन्द्र पाल, मनोज कुमार, वासू, राधे, अभिजीत मित्तल, शिवम मित्तल, गौरव और तुषार जैन सभी ने रक्त दान कर चंद घंटों में दस यूनिट ब्लड का प्रबंध कर दिया। इन दसों हिन्दुओं के भाईचारे और धर्मनिरपेक्षता की चर्चा पूरे देश में हो रही है. 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार