सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

गौ माता की हत्या पर ममता के सहयोगी सिद्दिकुल्ला का ये एलान बदल सकता है बंगाल में हिंदुओं का रुझान

TMC विधायक सिद्दीकुल्ला का हिंदू भावनाओं का मजाक बनाने वाला बयान, बंगाल में नहीं रुकेगी गोहत्या

Shiv Kumar
  • Mar 7 2021 5:50PM
पश्चिम बंगाल में चुनावी पारा इस समय अपने शिखर पर है, नेताओं का आदान प्रदान और सभायें देश भर की जनता का ध्यान अपनी ओर खींच रहीं हैं। इन सब के बीच ममता सरकार के एक विधायक ने ऐसा बयान दिया है जो कि बेहद ही शर्मनाक है, जो न केवल बंगाल की जनता के दिलों को ठेस पहुंचाता है, बल्कि देशभर के हिंदूओं की भावनाओं का मजाक उड़ाता है। 

दरअसल तृणमूल कॉन्ग्रेस के विधायक सिद्दीकुल्ला चौधरी ने हिंदू भावनाओं का मजाक उड़ाते हुए, एक विवादित बयान दिया है। जिसमें उन्होनें बीजेपी को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि पश्चिम बंगाल में गोहत्या को कोई नहीं रोक सकता है। यह पहले से चला आ रहा है और आगे भी चलता रहेगा।

बता दें आगामी राज्य विधान सभा चुनावों से पहले सिद्दीकुल्ला ने कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहाँ आकर कहा था कि अगर बीजेपी सत्ता में आती है, तो वह राज्य में गोहत्या को समाप्त कर देगी। उन्होंने इस पर कहा कि, बता दें पिछले 1000-1200 वर्षों से बंगाल में गोहत्या हो रही है, और गोहत्या का समर्थन करते हैं। 

सिद्दीकुल्ला  चौधरी ने दावा किया कि 5-स्टार रेस्टॉरेंट और विदेशी पर्यटकों के बीच भारत में गोमांस खाना आम है। अगर गोमांस पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो बंगालियों को सौ फिसदी गुस्सा आएगा। यदि हम इसे नहीं खाते हैं, तो हम इसे कहाँ रखेंगे?  फिर हमें जबरदस्ती गौं मांस जनता को खिलाना होगा।

दरअसल बंगाल में बाहर से आये घुसपेठियों के कारण गाऊ हत्या बढ़ गई थी जिसको लेकर ही ममता सरकार के विधायक ऐसे बयान दे रहे हैं, ताकि उन्हें खुश किया जा सके। चुनाव नजदीक है कुछ ही समय में पता चल जायेगा कि 1000-1200 वर्षों से चलती आ रही गोहत्या रुकेगी या चलती रहेगी।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार