सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

दिल्ली एनसीआर में तेज हवा से वायु प्रदूषण से थोड़ी राहत, कई इलाकों का AQI अभी भी खतरनाक स्तर पर

रविवार को हुई बारिश से एनसीआर के कई हिस्सों में AQI कम दर्ज किया गया लेकिन अभी भी खतरा बना हुआ है

Namit Tyagi , twitter @NamitTyagi1
  • Nov 16 2020 1:32PM
दिल्ली के इलाकों में सोमवार को हल्की बारिश और अनुकूल गति से हवा के चलने से प्रदूषण के स्तर में गिरावट दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि वायु गुणवत्ता में अभी और सुधार आ सकता है। शहर में AQI लेवल सुबह नौ बजे 300 दर्ज किया गया, जो खराब श्रेणी में आता है। दिल्ली में दीपावली पर वायु गुणवत्ता का स्तर पिछले चार वर्षों के मुकाबले सबसे खराब दर्ज किया गया। 2016 के बाद पहली बार दिवाली के एक दिन बाद सबसे खराब वायु गुणवत्ता दर्ज की गई।

पिछले चार वर्षों के मुकाबले दिल्ली की हवा सबसे खराब दर्ज

दिल्ली में शनिवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 414 दर्ज किया गया, जो रात दस बजे 454 तक पहुंच गया था। वहीं रविवार को चौबीस घंटे का औसतन एक्यूआई शाम चार बजे 435 दर्ज किया गया जो पिछले चार साल में दिवाली के एक दिन बाद दर्ज किया गया सबसे खराब सूचकांक था। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने बताया कि सभी प्रदूषक 2019 की तुलना में इस साल दिवाली के दिन अधिक थे। सीपीसीबी ने बताया कि शनिवार रात दिल्ली-एनसीआर में बड़े पैमाने पर पटाखे जलाना इसका मुख्य कारण हो सकता हैं।

बारिश और तेज हवा चलने से दिल्ली को थोड़ी राहत मिली

दीपावली के बाद बारिश और तेज हवा चलने से दिल्ली को थोड़ी राहत मिली। 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने से प्रदूषक तत्वों को बिखरने में सोमवार को भी मदद मिल सकती है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी प्रणाली सफर ने भी पर्याप्त बारिश के कारण प्रदूषण के खराब श्रेणी में आने का अनुमान लगाया। उसने कहा कि वायु गुणवत्ता के मंगलवार और बुधवार को बेहद खराब श्रेणी में रहने का अनुमान है।



सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार