सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

घुटनों पर आ चुके दुर्दांत अपराधी का था ऐसा रसूख की आमने सामने थी दो राज्य सरकारें

घुटने पर आ चुके मुख्तार अंसारी की कभी बोलती थी पूर्वांचल में तूती, UP में दर्ज है 56 मुकदमें

Ayush Mishra
  • Apr 6 2021 1:29PM

अपराधों की नई पराकाष्ठा लिखने वाले मुख्तार अंसारी पर योगी सरकार का शिकंजा कसता जा रहा है, उत्तर प्रदेश सरकार को मिली सुप्रीम कोर्ट में जीत से यह कयास भी लगना शुरू हो गया की मुख्तार अंसारी के दिन कम हो गए हैं । कभी मुख्यमंत्री सहित प्रशासन को अपनी मुट्ठी में रखने वाला मुख्तार अंसारी इन दिनों घुटनों के बल अपने जिंदगी की भीख मांगता दिख रहा है , गाजीपुर से सांसद मुख्तार का भाई अफजाल अंसारी भी बड़े भाई के जिंदगी की गुहार लगाते अधिकारियों के चौखट पर देखा जा सकता है । किसी ज़माने में सरकारी टेंडरों पर एकछत्र राज करने वाला मुख्तार अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से बचने के लिए व्हीलचेयर और एंबुलेंस का सहारा ले रहा है । 

हत्या का प्रयास, हत्या जैसे संगीन अपराधों मे लिप्त मुख्तार अंसारी बड़ी चतुराई से योगी सरकार से बचने के लिए एक पुराने केस में सजा  और पंजाब की कांग्रेस सरकार के चलते रोपड़ जेल में बंद होकर सुरक्षित महसूस कर रहा था । जिसके बाद मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश वापस लाने के लिए पंजाब और उत्तर प्रदेश की सरकारें आमने सामने आ गई , मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा दोनों पक्ष की तरफ से प्रतिष्ठित वकीलों ने अपना पक्ष रखा फैसला उत्तर प्रदेश सरकार के पक्ष में आया और आज मुख्तार को रोपड़  जेल से उत्तर प्रदेश के बांदा जेल में पहुंचाने की तैयारियां पूरी की जा चुकी है ।  बांदा जेल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है, वहीं कभी बिना वजह मासूम लोगों को गोली मारने वाले मुख्तार अंसारी की पत्नी को उसके  फर्जी एनकाउंटर का डर भी सता रहा है और मुख्तार का भाई अफजाल अंसारी कोर्ट जाने की बात भी कह रहा है । 

मुख्तार के सर पर 52 मुकदमे - मुख्तार अंसारी के अपराध की फेहरिस्त इतनी लंबी और ह्रदय विदारक है कि शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता , मऊ से कई बार विधायक और पूर्वांचल का माफिया मुख्तार पर यूपी में अब तक 52 मुकदमे दर्ज है उसके गैंग के 96 सदस्य गिरफ्तार किए जा चुके हैं । आपको बता दें मुख्तार की 152 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति को जप्त कर उसे जमींदोज करने की कार्रवाई भी हुई । 


400 राउंड चली थी कृष्णानंद राय हत्याकांड में गोलियां -
 जरायम की दुनिया में बाहुबली मुख्तार अंसारी का नाम कृष्णानंद राय हत्याकांड में भी आया, भारतीय जनता पार्टी से विधायक कृष्णानंद राय के हत्याकांड से पूर्वांचल दहल उठा था , 29 नवंबर 2005 को क्रिकेट प्रतियोगिता के उद्घाटन के दौरान बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय को बदमाशों ने गोलियों से भून दिया था, इस जघ्न हत्याकांड में बाहुबली मुख्तार अंसारी ,सुपारी किंग बन्ना बजरंगी ,संजीव महेश्वरी, अफजाल अंसारी सहित आदि लोगों पर मुकदमे दर्ज हुए था । न्यायिक अदालत से होता हुए इस मामले की जांच सीबीआई कोर्ट तक पहुंची लेकिन सीबीआई कोर्ट ने दुर्दांत अपराधी मुख्तार अंसारी समेत अन्य आरोपियों को बरी कर दिया था । 

मुकदमा वापस लिया योगी सरकार ने - मुख्तार अंसारी पर आर्म्स एक्ट के तहत कार्यवाही करने और पोटा लगाने वाले पूर्व डिप्टी एसपी शैलेंद्र सिंह पर दर्ज  मुकदमे को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने वापस ले लिया है , दरअसल जनवरी 2004 में यूपी एसटीएफ में वाराणसी यूनिट प्रभारी डिप्टी एसपी शैलेंद्र सिंह ने बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या से पहले मुख्तार अंसारी द्वारा एलएमजी खरीदने का खुलासा किया था और एलएमजी बरामद भी की,  जिसके तहत मुख्तार अंसारी पर पोटा लगाया गया था । तत्कालीन सरकार में हंगामे की वजह से बाद में शैलेंद्र सिंह ने उत्तर प्रदेश पुलिस की नौकरी से इस्तीफा दे दिया और शैलेंद्र पर वाराणसी के कैंट थाने में डीएम कार्यालय के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी लाल जी की तरफ से डीएम दफ्तर के गेस्ट रूम में घुसकर तोड़फोड़ और मारपीट करने पर एफ आई आर दर्ज कराई गई थी , इस मामले में शैलेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था पुलिस ने चार्जशीट तक कोर्ट में दाखिल कर दी थी लेकिन राजनीति से प्रेरित इस पूरे प्रकरण पर दर्ज केस को उत्तर प्रदेश सरकार की योगी सरकार ने अब वापस ले लिया है । 

योगी सरकार में जारी है अपराधियों के खिलाफ दनादन एनकाउंटर - 4 साल की योगी सरकार में उत्तर प्रदेश में खूंखार अपराधों का ग्राफ लगातार घटता रहा है । योगी सरकार में अपराधियों के एनकाउंटर की खबरें आम हो गई , पिछले 4 वर्षों में कानून हाथ में लेने वाले अपराधियों को योगी सरकार द्वारा उनकी भाषा में जवाब दिया गया । अतीक अहमद जैसे माफियाओं की संपत्ति जमींदोज कर दी गई वहीं कानपुर के खूंखार अपराधी विकास दुबे के साम्राज्य का अस्तित्व मिटा दिया गया , इसी इतिहास को देखते हुए दुर्दांत अपराधी मुख्तार अंसारी सहित अपराधियों में एनकाउंटर का डर बना हुआ है जोकि शांति प्रिय समाज के लिए अच्छा है ।

 


 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

बहुत अच्छा

  • Guest
  • Apr 6 2021 2:26:28:713PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार