सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अपने कोच की गर्दन पर चाकू रख देते हैं पकिस्तानी क्रिकेटर. ग्रांट फ्लॉवर के खुलासे पर खेलों में आतंकी आहट

जिम्बाब्वे के सलामी बल्लेबाज रहे Grant Flower का Pakistan के Younis Khan पर सनसनीखेज खुलासा.

Rahul Pandey
  • Jul 8 2020 4:38AM

ये खुलासा किसी हिन्दू संगठन ने नही किया है.. ये खुलासा किसी राजनीतिक दल ने भी नही किया.. ये खुलासा एक खिलाड़ी का है जो कभी भी साम्प्रदायिक पृष्टभूमि का नही रहा और न ही ऐसे देश स्व जहां इसका बोलबाला हो.., वो तो धर्मनिरपेक्ष था , शायद इसीलिए उसने पाकिस्तान जैसे देश का कोच बनना स्वीकारा था अन्यथा बाकी कई लोग इस मुल्क व इस सोच के सच को बहुत पहले जान चुके थे.

अक्सर आपने कभी MBA छात्र को आतंकी बनते देखा हो तो कभी B TECH डिग्री धारक को. अमेरिका के वर्ड ट्रेड सेंटर पर विमान लड़ाने वाले सभी इस्लामिक आतंकी पायलट का लाइसेंस प्रॉपर कर चुके थे.. ऐसे में सतर्कता रखने योग्य सन्देश तो जाता ही है कि कब , कहाँ और कौन आतंकी बन जाइये तय नहीं.. भारत मे भी जयपुर में इंडियन ऑयल का उच्च पद का मार्केटिंग मैनेजर भी आतंकी निकला था और कई पढ़े लिखे जिहादी सीरिया तक ISIS में भर्ती होने  चले गए थे..

लेकिन तथाकथित सेक्युलरिज्म के नकली सिद्धांत उस समय इतना जोर शोर से हंगामा करते हैं कि लोगों को असल सच जानना मुश्किल हो जाता है.  ऐसे में अब दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक रहे जिंबाब्वे के ओपनर ग्रांट फ्लॉवर ने किया है एक सनसनीखेज खुलासा जिसके बाद तो ये कहा जा रहा है कि क्रिकेटर भी कब आतंकी बन जाय क्या भरोसा..

गर्दन को चाकू से रेतने के वीडियो यकीनन आपने कई बार क्रूरता के प्रतीक बन चुके अफगानी , इराकी ,सीरियाई , कश्मीरी , पाकिस्तानी आतंकियो द्वारा जारी करने पर देखे होंगे..लेकिन पाकिस्तान के क्रिकेटर यूनुस खान ने तो अपने कोच रहे ग्रांट फ्लावर के गर्दन पर ही चाकू रख दिया था और हैरानी की बात ये है कि अपनी हरकत को स्वीकार करने के बजाय पूरा पाकिस्तान इस जिहादी कृत्य के समर्थन में आते हुए ग्रांट फ्लावर को ही गलत ठहराने पर तुला हुआ है और कुतर्क रख रहा कि ग्रांट फ्लावर ने ये बताया क्यों ?

भारत के नकली सेक्युलरिज्म के नियम अक्सर कहते हैं कि देश की सीमाओं से बढ़ कर खेल व मनोरंजन हैं।।इसी आधार पर कई बॉलीवुड व क्रिकेटर नेताओं से भी बड़ी मजबूत छवि सिर्फ भारत मे बना लिए हैं.. यद्द्पि उन्हें पाकिस्तान से शाहिद अफरीदी जैसे जिहादी सोच वाले कथित खिलाड़ी आये दिन सच का आईना दिखाते रहते हैं.. फिलहाल मुद्दे पर आते हुए बताया जा रहा कि पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर ने दावा किया कि एक बार जब उन्होंने पूर्व कप्तान यूनिस खान को कुछ सलाह देने की कोशिश की तो उन्होंने उनकी गर्दन पर चाकू रख दिया था। जिंबाब्वे के फ्लावर से तब पूछा गया कि उनके कोचिंग करियर के दौरान उन्हें किन मुश्किल खिलाड़ियों से सामना करना पड़ा तो 49 वर्षीय कोच ने यूनिस से जुड़ी घटना याद की।

ग्रांट फ्लावर वर्ष 2014 से वर्ष 2019 तक पाकिस्तान क्रिकेट टीम के बल्लेबाजी कोच रहे थे। ग्रांट फ्लावर वर्तमान में श्रीलंका क्रिकेट टीम के बल्लेबाजी कोच हैं। उन्होंने फोलोइंग ऑन क्रिकेट पोडकास्ट पर अपने भाई एंडी और मेजबान नील मैंथोर्प के साथ बातचीत में कहा कि यूनिस खान। उन्हें सिखाना काफी कठिन है। यहां खान ही क्यों है ये दुनिया जरूर जानना चाहती है. खान लगाने वाले यूनिस ने मक्खन लगाने वाला चाकू उठाकर ग्रांट फ्लावर पर रख कर कहा था कि नाश्ते की टेबल पर सलाह देने की बजाय उन्हें चैन से खाने दें।’ फ्लावर ने उस घटना के बारे में कहा है कि मुख्य कोच मिकी आर्थर को बीच बचाव करके यूनिस को शांत करना पड़ा था।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार