सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अलकायदा और तालिबान के गढ़ इस्लामिक मुल्क अफगानिस्तान में सीरियल ब्लास्ट . कौन सी दुश्मनी दुनिया भर से ?

समझना होगा कि किस किस से और क्या दुश्मनी है इनकी ?

Sudarshan News
  • May 11 2020 6:39PM

अफ़गानिस्तान में लगातार 4 बड़े धमाके से दहकती । अफगानिस्तान  की राजधानी काबुल  में सोमवार को लगातार चार बम धमाके हुए हैं l सूत्रों के हवाले से यह पता चला है कि ये धमाके पीडी-4 एरिया के ताहिया मसकन इलाके में हुए हैं l इन धमाकों में फिलहाल चार लोगों के घायल होने की खबर है l 

अफगान अधिकारियों का कहना है कि एक बम कूड़ेदान के नीचे और तीन अन्य सड़क किनारे रखे गए थे. काबुल पुलिस के प्रवक्ता फरदौस फरमर्ज कहते है कि सड़क किनारे 10-20 मीटर की दूरी पर बमों को रखा गया था l विस्फोट में 12 साल की बच्ची घायल हुई है और पुलिस घटना स्थल की जांच कर रही है l अभी तक किसी ने बम विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है और विस्फोट के निशाने पर कौन था यह पता नहीं चल पाया है l 

काबुल और उसके आसपास तालिबान और इस्लामिक स्टेट दोनों गुट सक्रिय हैं जो लगातार नागरिकों और फौजियों को अपना निशाना बनाते रहे हैं l AFP के मुताबिक काबुल पुलिस ने इन धमाकों की जानकारी दी है l शुरूआती शक के तोर पर तालिबानी लड़कों हो सकते है l

पिछले साल सितंबर में भी काबुल में  पीडी-9 स्थित मिनिस्टरी ऑफ डिफेंस बिल्डिंग के पास एक सुसाइड अटैक किया गया था, जो कि एक फिदायीन हमला था l जिसमें 22 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 38 लोग घायल हुए थे l इस हमले की जिम्मेदारी तालीबान ने ली थी l

इससे पहले 29 अप्रैल को अफगानिस्तान की राजधानी के बाहरी इलाके में स्थित अफगान विशेष बलों के अड्डे को एक फिदायीन हमलावर ने निशाना बनाया था। इस हमले में तीन आम नागरिकों की मौत हो गई और 15 अन्य जख्मी हुए थे। सरकार ने हमले के लिए तालिबान को जिम्मेदार ठहराया था।

बीती 11 फरवरी, 2020 को भी काबुल के पीडी-5 स्थित मार्शल फहीम मिलिट्री एकेडमी पर हमला हुआ था l यह हमला उस वक्त हुआ था, जब कर्मचारी और कैडेट एकेडमी में जा रहे थे l यह भी एक फिदायीन हमला ही था l इस हमले में 5 मिलिट्री जवानों और दो स्थानीय लोगों की मौत हुई थी और कई घायल हो गए थे l

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार