सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

कथित धर्मनिरपेक्षता पूरी दुनिया मे ज़िंदाबाद... विदेशों में फुटबॉल मैच रोक कर मैदान पर हो रही रोज़ा इफ्तारी

सेकुलर देशों की राजनीति की तरह हुए विदेशों में खेल..

सुदर्शन न्यूज़ डेस्क
  • May 7 2021 9:13AM
जिस प्रकार की धर्मनिरपेक्षता अक्सर सेकुलर देशों की राजनीति में अपने पूरे शबाब पर दिखाई देती है उसी प्रकार की धर्मनिरपेक्षता अब धीरे-धीरे राजनीति के मैदानों से खेल के मैदानों में भी पहुंच गई है वह भी भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के तमाम अलग-अलग हिस्सों में..

धर्मनिरपेक्षता से लबरेज व्यक्ति और समूह का सबसे बड़ा सामाजिक लाभ यह होता है कि उसे किसी भी प्रकार के नियम कानून और विचारधारा को लांघने की पूरी छूट स्वयं और स्वतः मिल जाती है..

फिलहाल अब जो कुछ भी निकल कर खबरों में सामने आ रहा है इसको खेल जगत में अंतरराष्ट्रीय भाईचारे का परचम बुलंद होना निश्चित रूप से कहा और माना जाएगा । यहां पर फुटबॉल के मैदान के बीच में रोजा इफ्तारी हुई है।

सड़कों पर, गलियों में आम जनता को रोक कर और नेताओं को अपने पारंपरिक वस्त्र त्याग कर के रोजा इफ्तारी आपने कई बार पुलिस की सुरक्षा में होती जरूर देखी होगी और इसको संविधान बचाने का नाम दिया गया है लेकिन दूर सात समंदर पार फुटबॉल के मैदान पर खेल को रोक कर रोजा इफ्तारी कराई गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मैनचेस्टर यूनाइटेड के मिडफील्डर पॉल पोग्बा को एएस रोमा के खिलाफ यूरोपा लीग सेमीफाइनल के पहले चरण के दौरान ब्रेक इसलिए लेना पड़ा क्योकि रोजा इफ्तार का वक्त हो गया था। दरअसल, वह रमजान के रोजे रखते हुए मैच में शामिल हुए और इस दौरान इफ्तार का समय हो गया था...

अभी हाल में ही इस्लाम कबूल करने वाले पोंगबा ने खेल के पहले 30 मिनट का ब्रेक लेकर इफ्तार किया.. पोग्बा एकमात्र प्रीमियर लीग खिलाड़ी नहीं हैं जिन्होंने रमजान के दौरान रोजा रखा हुआ है। सोमवार, 26 अप्रैल को लीसेस्टर सिटी के डिफेंडर वेस्ली फोफाना को भी फुटबॉल मैच से जल्दी स्नान करने की अनुमति दी गई थी ताकि वह एक रोजा खोल सकें।

डिफेंडर को 35 वें मिनट में क्रिस्टल पैलेस के खिलाफ मैच के दौरान अपना रोजा खोलने की अनुमति दी गई थी। ब्रिटिश दैनिक द टाइम्स ‘लाइफ टाइम्स के साथ पिछले साक्षात्कार में, पोग्बा ने स्वीकार किया कि उनकी माँ के इस्लाम का पालन करने के बावजूद उन्हें एक मुस्लिम के रूप में नहीं उठाया गया।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार