सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

पूर्व प्रधानमंत्री नरसिंहाराव के पोते का दंगाई अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ बेहद कड़ा और बड़ा बयान

भाजपा नेता एन वी सुभाष और नरसिम्हा राव के पोते ने अकबरूद्दीन की टिप्पणियों की निंदा की और कहा कि उन्हें माफी मंगानी चाहिए....

Sudarshan News
  • Nov 26 2020 4:55PM
जलाशय के करीब रह रहे गरीब लोगों को हटाने के अभियान पर सवाल उठाते हुए, एआईएमआईएम नेता अकबरूद्दीन औवेसी ने बुधवार को यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया, कि क्या हुसैन सागर झील के तट पर बनी पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और तेदेपा के संस्थापक एनटी रामाराव की 'समधियाँ' हटाई जएँगी ।

भाजपा और सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने आईएमआईएम प्रमुख के भाई अकबरूद्दीन औवेसी की टिप्पणी को अनुचित बताया, और माफी मंगाने के लिए कहा। एआईएमआईएम नेता ने पूछा कि क्या तालाब के पास एक गरीब आदमी के घर को ध्वस्त करने के लिए आने वाले नगर निगम अधिकारीयों को दिवंगत नेताओं की समाधियों के साथ ऐसा करने का साहस होगा। और  उन्होंने दावा किया कि हुसैन सागर झील का किनारा 4700 एकड़ में फैला था, जब इसे हुसैन शाह वली ने बनवाया था। लेकिन अब यह 700 एकड़ में भी नहीं रह गया है। 

उन्होंने कहा 4000 एकड़ जमीन कहां गई ? दुकान बनाई गई है, नेकलेस रोड बनाया गया है, नरसिम्हा राव, लुम्बिनी पार्क है। प्रदेश भाजपा और सांसद बी संजय कुमार ने अकबरूद्दीन का नाम लिए बगैर , तीखी प्रतिक्रिया करते हुए पूँछा कि क्या उनमें नरसिम्हा राव और एनटीआर की समाधियों को ध्वस्त करने की हिम्मत है। 

भाजपा नेता एन वी सुभाष और नरसिम्हा राव के पोते ने अकबरूद्दीन की टिप्पणियों की निंदा की और कहा कि उन्हें माफी मंगानी चाहिए। 

टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष के टी रामाराव ने कहा कि नरसिम्हा राव और एनटीआर महान व्यक्ति थे जिन्होंने तेलुगू लोगों के सम्मान को बरकरार रखा और लोकतंत्र में इस तरह की अनुचित टिप्पणियों के लिए कोई जगह नहीं है

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार