सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

ताश के पत्तो जैसा ढह रहा है ममता का धर्मनिरपेक्ष किला.. तृण से मूल हो रहा गायब

क्या दीदी को भारी पड़ रहा है भातीजा प्रेम..? पार्टी के बाद अब परिवार भी टूट की कगार पर ...

Shiv Kumar
  • Jan 14 2021 3:48PM

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर राजनीतिक संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा है। हाल में पार्टी के कुछ बड़े नेता टीएमसी को छोड़कर जा चुके हैं, और अब परिवार के टुटने के भी आसार नज़र आ रहे हैं। और कहीं न कहीं इस सब का जिम्मेदार उनका भतीजा प्रेम ही नज़र आ रहा है। क्योंकि पार्टी से निकलने वाले नेताओं ने ममता पर परिवार को ही आगे रखने का आरोप लगाया है।

दरअसल ममता बनर्जी के सगे भाई कार्तिक बनर्जी ने राजनीति में आने के संकेत दिए हैं, जिसके चलते उन्होने कुछ ऐसे बयान दिए हैं जो ममता की मुश्किलें बढा सकतें हैं। कार्तिक ने कहा कि 'परिवारतंत्र' राजनीति के लिए अच्छा नहीं है।उन्होंने कहा कि सिर्फ बंगाल ही नहीं देश और पूरी दुनिया में जिनमें क्वालिटी है उन्हें ही राजनीति में जगह मिलनी चाहिए।

परिवारवाद पर हमला
बिना नाम लिए उन्होंने परिवारवाद पर हमला बोलते हुए कहा कि कुछ लोग बोलते हैं कि वे लोगों के लिए काम करेंगे लेकिन चुनाव के बाद वे सिर्फ परिवार को ही देखते हैं। साथ ही अपने बारे में बोलते हुए  उन्होंने कहा कि, "मैं ममता बनर्जी का भाई हूं इसका मतलब ये नहीं कि मुझे राजनीति में जगह मिलनी चाहिए। जिसके पास योग्यता है उसे जगह मिलनी चाहिए, वहीं अच्छा होगा।

भाजपा में शामिल होने पर दिया जबाव 
जब उनसे बीजेपी में शामिल होने की अटकलों पर पूछा गया तो उन्होंने कहा, "हमारे ऋषि-मुनियों ने जो कहा है, हमें उन्हीं के बताए रास्ते पर आगे चलना होगा." 
आपको बता दें कि ममता की पार्टी के सूत्रों के अनुसार ये माना जा रहा है कि ममता बनर्जी के सगे भाई कार्तिक बनर्जी भाजपा में शामिल हो सकते हैं उन्होने राजनीति में आने के संकेत दिये हैं। बंगाल में ममता बनर्जी की मुश्किलें कुछ समय से लगातार बढ़ ही रही हैं। पहले शुभेंदु अधिकारी का जाना और फिर कई ऐसे लोगों का पार्टी का छोड़ देना जो बंगाल की राजनीति में ममता के किले के स्तंम्भ की तरह थे। 
अभिषेक बनर्जी ही चलाते हैं टीएमसी
ममता की पार्टी से निकले वाले लोगो ने पार्टी पर परिवारवाद को बंढावा देने का आरोप लगाया है । टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए शुभेंदु अधिकारी भी अभिषेक बनर्जी पर निशाना साधते रहे हैं. अधिकारी का आरोप है कि ममता बनर्जी सिर्फ चेहरा हैं, पार्टी अभिषेक बनर्जी ही चलाते हैं। बंगाल में कहीं न कहीं ममता को भी ऐसा नज़र आ रहा है कि भाजपा यहा मजबूत हो रही है इसी के चलते उनकी पार्टी ने कांग्रेस और वामदलों को साथ आने के लिए कहा था, और अब परिवार का टूटता नज़र आना ममता को और सतायेगा।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार