सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

18 अक्टूबर- आज ही आतंकी हमले में बलिदान हुए थे कमलेश तिवारी.. सामने से न लड़ पाए तो भगवा पहन कर आये थे हत्यारे.. #कमलेश_तिवारी_अमर_रहें

बेरहमी से कत्ल कर दिए गये थे अपने ही घर में.

Rahul Pandey
  • Oct 18 2020 9:19AM

वो दिन आज का ही था. अचानक ही ऐसी खबर आई थी कि पूरे देश में हलचल मच गई थी. हर तरफ आक्रोश और गुस्सा था क्योकि धोखे से कत्ल कर दिए गये थे कमलेश तिवारी. ये वो नाम थे जो अक्सर हिंदुत्व के उग्र चेहरों में गिने जाते थे. समाजवादी पार्टी की सरकार में इनके मात्र एक बयान पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही की गई थी.

तब से ये आतंकियों के निशाने पर थे और लगातार इनको मारने का प्रयास किया गया. इनको सुरक्षा के तौर पर पुलिसकर्मी भी मिले थे लेकिन बाद में इनकी सुरक्षा कम कर दी गई और वही वजह बनी थी इनकी निर्मम हत्या की. लखनऊ पुलिस की भी लापरवाही सामने आई थी. यद्दपि बाद में गुजरात पुलिस ने हत्यारों को पकड़ लिया था.

इस हत्याकांड के बाद ये माना जा रहा था कि सरकार हिन्दू और हिंदुत्व की आवाज उठाने वालों की सुरक्षा को बढ़ाएगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. आज सोशल मीडिया पर कमलेश तिवारी के समर्थक उनको याद कर रहे हैं. सदैव भगवा पहन कर सामने आने वाले कमलेश तिवारी ने हिन्दू महासभा से अलग हो कर हिन्दू समाज पार्टी बनाई थी.

इनको कत्ल करने वालों में ये साहस नहीं हुआ था कि वो सीधे खुल कर अपने असली रूप में सामने आयें. उन्होंने भगवा वस्त्रों का सहारा लिया और इतना ही नही बाकायदा फेसबुक से ले कर सामने तक हिन्दू नाम की ID और पहिचान पत्र बनवाये गये थे. इनको सामने से लड़ने की चुनौती नहीं दी गई थी बल्कि मिठाई खिलाने के बहाने मारा गया था.

अजनबी को भी शरण देने और सब पर विश्वास कर लेने की पूर्व में भी हिन्दू सम्राटो की भूल इन पर भी भारी पड़ी और इनकी निर्मम हत्या आज ही के दिन हुई. इनकी हत्या पर भी राजनीति हुई और हत्यारों को बचाने के लिए राजनेताओं को भी उतरते देखा गया जिसमे आरोप इनके ही गांव के एक पैत्रिक पडोसी पर लगाया गया था.

लेकिन आखिरकार सच सामने आया था और इनकी हत्या में न सिर्फ २ दुर्दांत हत्यारे शामिल मिले थे बल्कि कई मजहबी नाम भी सामने आये थे जिसमे वकील तक के तार जुड़े मिले थे. धर्म की आवाज उठाने से कभी भी विचलित नही होने वाले और उसी वजह से मजहबी आतंकियों के हमले का शिकार बने कमलेश तिवारी का आज बलिदान दिवस है. सुदर्शन परिवार उनको शत शत नमन करता है. 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

14 Comments

Можешь играть джекпоты - новехонькое известное во всем мире заебумбешное казино клуб, slotika. классные бонусные условия. слотика 300 рублей, 2020 онлайн сайтик от организаторов продуктов партнерки jim.partners. нахлобученный для такой вота ситуации что б приглашать популярных и не только азартных пацанов в крутом месте : казино slottica com.

  • Guest
  • Oct 18 2020 4:58:09:350PM

Kamlesh Tiwari hi nhi Sare Hindu mare jayege agar Hindu soya Raha to ghati Hindu mukta hua Assam Bengal Jha Muslim jyada h wha Hindu dar Kar rah rahe he qki hinduo ko jagana aasan nhi

  • Guest
  • Oct 18 2020 4:16:33:047PM

Kamlesh Tiwari hi nhi Sare Hindu mare jayege agar Hindu soya Raha to ghati Hindu mukta hua Assam Bengal Jha Muslim jyada h wha Hindu dar Kar rah rahe he qki hinduo ko jagana aasan nhi

  • Guest
  • Oct 18 2020 4:16:32:417PM

Kamlesh Tiwari hi nhi Sare Hindu mare jayege agar Hindu soya Raha to ghati Hindu mukta hua Assam Bengal Jha Muslim jyada h wha Hindu dar Kar rah rahe he qki hinduo ko jagana aasan nhi

  • Guest
  • Oct 18 2020 4:16:31:127PM

Kamlesh Tiwari hi nhi Sare Hindu mare jayege agar Hindu soya Raha to ghati Hindu mukta hua Assam Bengal Jha Muslim jyada h wha Hindu dar Kar rah rahe he qki hinduo ko jagana aasan nhi

  • Guest
  • Oct 18 2020 4:16:30:613PM

amlesh Tiwari is a hero and a Brave Dharmik. All Hindus must salute his name and try to emulate him, do not give in to the murderous jihadi pigs. The islamic vermin are pigs in packs attacking a single lion. Soon the butchers will fall to the same knife, these parasites will reap what they sow. Hindus should unite to repay the muzzrats for all their atrocities. Never trust a jihadi pig, in France the students of that professor were the ones who identified him to the killer, these vermin have a filthy mentality which no sane person will support. Never Forgive or Forget

  • Guest
  • Oct 18 2020 3:32:33:053PM

जय श्री राम

  • Guest
  • Oct 18 2020 3:31:56:680PM

Kamlesh Tiwari is a hero and a Brave Dharmik. All Hindus must salute his name and try to emulate him, do not guve in to the murderous jihadi pigs. The islamic vermic are pigs in packs attacking a single lion. Soon the butchers will fall to the same knife, these parasites will reap what they sow. Hindus should unite to repay the muzzrats for all their atrocities. Never trust a jihadi pig, in France the students of that professor were the ones who identified him to the killer, these vermin have a filthy mentality which no sane person will support. Never Forgive or Forget

  • Guest
  • Oct 18 2020 3:31:54:573PM

Honble Beer Shahid Shri Kamlesh Tiwari Ji ko Kotishah Naman Karte hue Shardhanjali Arpit Karta hue. Inka Balidan Yogo yogo tak yad kiya Jayega.

  • Guest
  • Oct 18 2020 3:05:28:060PM

Honble Beer Shahid Shri Kamlesh Tiwari Ji ko Kotishah Naman Karte hue Shardhanjali Arpit Karta hue. Inka Balidan Yogo yogo tak yad kiya Jayega.

  • Guest
  • Oct 18 2020 3:05:27:553PM

We all Hindus must be like Mr Tiwari

  • Guest
  • Oct 18 2020 12:08:56:083PM

जय श्रीराम

  • Guest
  • Oct 18 2020 11:48:48:703AM

Anti national elements will never fulfil their target by doing these types of offences

  • Guest
  • Oct 18 2020 11:30:59:150AM

Balidani Ramesh Tiwari amar rahe. Har Har Mahadev.

  • Guest
  • Oct 18 2020 11:11:26:620AM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार