सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

सियासत: झारखण्ड विधान सभा से निराश भाजपाई बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष बनाने के लिए लेंगे हाईकोर्ट का सहारा

झारखण्ड देश का एक ऐसा राज्य है जहाँ अजब गजब कारनामे होते रहते हैं ताज़े मामले की ही बात करें तो झारखण्ड बीजेपी इन दिनों खासी परेशान हैं और उनके परेशानी का कारण है विधान सभा में सत्ता पक्ष के द्वारा हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष का दर्जा न देना.

अरविन्द प्रताप, ब्यूरो हेड
  • May 24 2020 5:25PM
रांची: झारखण्ड देश का एक ऐसा राज्य है जहाँ अजब गजब सियासी कारनामे होते रहते हैं ताज़े मामले की ही बात करें तो झारखण्ड बीजेपी इन दिनों खासी परेशान हैं और उनके परेशानी का कारण है विधान सभा में सत्ता पक्ष के द्वारा हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष का दर्जा न देना. अब आलम यह है कि विधानसभा अध्यक्ष के यहां से नेता प्रतिपक्ष का मामला शीघ्र नहीं सुलझा तो भाजपा हाईकोर्ट जाएगी। पार्टी इसकी तैयारी में है। लॉकडाउन के बाद जून के दूसरे सप्ताह में इस विषय में हाईकोर्ट में याचिका दायर होगी। लॉकडाउन अवधि में इस विषय पर कई दौर की चर्चा के बाद प्रदेश नेतृत्व ने यह निर्णय लिया है। पार्टी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी के साथ प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह ने इस विषय पर मंथन के बाद यह मन बनाया है। भाजपा अब इस मुद्दे पर निर्णायक पहल चाहती है। इसके लिए पार्टी ने दबाव बनाना आरंभ कर दिया है। शुक्रवार को इस बारे में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखा तो शनिवार को हाईकोर्ट में याचिका दायर करने पर विचार हुआ। पार्टी के अधिवक्ता नेताओं का मानना है कि निर्वाचन आयोग के निर्णय के बाद विधानसभा अध्यक्ष के पास अब कोई शक्ति नहीं है कि वे इस मामले को लंबा चलाएं। वैसे भी अपने अजब गजब कारनामों से हमेशा से ही चर्चा में रहने वाली झारखंड के ये सियासी हालत कोई नये नहीं हैं. तभी टो कहते हैं कि ये झारखण्ड है बाबु यहाँ कुछ भी हो सकता है. 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार