सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

"स्वदेशी का महामंत्र, हारेगा कोरोना तंत्र'.. लोकप्रिय हुई मैनपुरी पुलिस अधीक्षक की ये सीख

कोरोना को हराने के लिए स्वदेशी को ही बताया मूलमंत्र.

राहुल पाण्डेय
  • Apr 25 2020 6:18PM
ये वो समय है जब देश ही नही बल्कि दुनिया भर एक जुट हो कर कोरोना नाम की महामारी को परास्त करने और मानवता को बचाने की जंग लड़ रही है. दुनिया का संभवतः कोई ही ऐसा देश हो जो इसके प्रकोप से अछूता रह पाया हो. भारत में भी इसके संक्रमण को रोकने के लिए केन्द्रीय शासन, प्रदेश सरकारें और जिला स्तरीय प्रशासन हर संभव कोशिश में लगा हुआ है. हर उन गाइड लाइनों का पालन किया अथवा करवाया जा रहा है जो मानव जाति को इस अदृश्य आपदा से बचा सके. इन तमाम प्रयासों में हाथ बार बार धुलना , साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखना और सोशल डिस्टेंस कायम रखना आदि प्रमुख हैं.. इसके साथ पुलिस प्रशासन लाकडाउन का पालन करवाने और लोगों को एक जगह न जमा होने देने के लिए दिन रात सडको पर है. 

इन्ही तमाम प्रयासों को जमीनी स्तर पर सार्थक करवाते उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के पुलिस अधीक्षक ने लोगों को दिया है वो मूलमंत्र जो वर्तमान में न सिर्फ कोरोना बल्कि भविष्य में अन्य कई बीमारियों और समस्याओं का स्थाई समाधान भी है. मैनपुरी के वर्तमान पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने लोगों को स्वदेशी की उपयोगिता बताते हुए इसी के प्रति आम जनमानस को जागरूक किया है. उन्होंने कोरोना को हराने के लिए मन्त्र दिया है "स्वदेशी का महामंत्र, हारेगा कोरोना तंत्र !'.. स्वदेशी की तरफ लोगों को आकर्षित करने के लिए भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ साथ योगगुरु स्वामी रामदेव जी ने भी लगातार अभियान चलाए हैं. इस दिशा में केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार ने मिल कर कई प्रोत्साहन स्कीमें भी निकाली हैं.. ऐसे में SP मैनपुरी अजय कुमार का ये मूलमंत्र प्रदेश व् केंद्र शासन के साथ साथ स्वामी रामदेव जी जैसी कई विभूतियों के प्रयासों को आगे बढ़ाने और उसमे सक्रिय सहयोग करने जैसा है.

मैनपुरी के एसपी अजय कुमार ने कोरोना वायरस से बचने का उपाय बताते हुए दावा किया है कि स्वदेशी के मंत्र से कोरोना निश्चित तौर पर हारेगा. स्वदेशी के अभियान को वह बाकायदा प्रचारित भी कर रहे हैं . उनका मंत्र है कि स्वदेशी का महामंत्र, हारेगा कोरोना तंत्र. बतौर अजय कुमार 'स्वदेशी' एक छोटा किन्तु बहुत ही पावरफ़ुल 'मंत्र' है, इसका पालन करें और स्वतः ही सुखद परिणाम देखें. IPS अजय कुमार स्वदेशी का पूरा मतलब बताते हुए लिखते हैं कि - 

स्व- "स्वच्छता- ख़ास तौर पर हाथों की स्वच्छता बहुत ज़रूरी है. 
द -दूरी-एक दूसरे से कम से कम 6 फ़ीट की दूरी बहुत ज़रूरी है. 
इ- इच्छाशक्ति. घर में बैठे रहने के लिए इच्छा शक्ति की मज़बूती ज़रूरी है. 14 से 28 दिन तक परिवार से दूर क्वारनटीन सेंटर में बिताने से लाख गुना अच्छा है कि अपने घर में ही बैठ लिया जाए. 
श- शारीरिक शक्ति. पौष्टिक खाएं. तले-भुने, मिर्च-मसालेदार या गरिष्ठ/मांसाहारी भोजन से परहेज़ करें. 
ई- ईमानदारी. ईमानदारी से लॉकडाउन का पालन करें. 

उनके अनुसार पुलिस को देखकर छिप जाना और फिर पुलिस के जाते ही बेवजह घूमने लग जाना, यह बेईमानी है. अनुशासनहीनता है. समाज के साथ छल और देश के साथ धोखा है. IPS अजय कुमार की स्वदेशी के पालन के लिए छेड़ी गई ये मुहिम आम जन में भी काफी लोकप्रिय हो रही है और कई लोग उनके तौर तरीको पर अमल करने की स्वीकृति भी दे रहे हैं.

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार