सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

उत्तराखंड के अंतिम मोस्ट वांटेड माओवादी काे पुलिस ने किया गिरफ्तार... 50 हजार का था इनाम

एक अधिकार ने जानकारी दी कि इस माओवादी पर साल 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में तीन मुकदमे दर्ज थे

Geeta
  • Sep 14 2021 4:30PM

उत्तराखंड का सबसे वरिष्ठ माओवादी लीडर भाष्कर पांडे उर्फ तरुण उर्फ मनीष को पुलिस और एसटीएफ के जॉइन्ट ऑपरेशन में गिरफ्तार कर लिया गया है.  आपकाें बता दें कि भाष्कर पांडे 20 हजार का इनामी अपराधी था.  मनीष पर शासन स्तर को इनामी राशि 50 हजार करने का प्रस्ताव भेजा गया था. पुलिस के एक अधिकार ने जानकारी दी कि इस माओवादी पर साल 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में तीन मुकदमे दर्ज थे.

 डीआईजी के मुताबिक भास्कर पांडे किसान आंदोलन में भी सक्रिय था जो माओवादी खीम सिंह बोरा का सबसे खास साथी था जिसे यूपी एसटीएफ ने पहले ही पकड़ लिया था. भास्कर पांडे ने माओवाद से सम्बंधित ट्रेनिंग भी ले ली थी. जिसके बाद उसने अपने कई साथियों से मिलकर विभिन्न घटनाओं को अंजाम देने के लिए कोशिशें की. 

 बता दें की भास्कर पांडे तहसील भनौली के गांव भगरतोली का रहने वाला था जो समय-समय पर विभिन्न जगहों पर अपने नामों को बदलते रहता था. जानकारी के मुताबिक मनीष उत्तराखंड का अंतिम मोस्ट वांटेड माओवादी था। इसके अलावा गिरफ्तार भास्कर पांडे ने 2017 के विधानसभा चुनाव में नैनीताल की धारी तहसील में जीप भी जला दी थी.

पुलिस के अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार भास्कर पांडे से देश की कई बड़ी एजेंसी पूछताछ भी करेंगी. माओवादी भाष्कर पांडे की गिरफ्तारी पर डीजीपी उत्तराखंड ने पुलिस टीम को 20 हज़ार का इनाम औऱ मेडल की घोषणा की है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार