सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

पनुन कश्मीर वेबिनार विशेष: विश्व शरणार्थी दिवस पर गरमाया कश्मीरी हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचारों का मुद्दा

कार्यक्रम का आकर्षण यूनाइटेड किंगडम के हैरो ईस्ट से सांसद और पद्मश्री बॉब ब्लैकमैन थे. माननीय सदस्यगण ने वेबिनार में कहा," मैं कश्मीर के हिन्दुओं की स्थिति से पूरी तरह से अवगत हूँ. पिछले तीन दशकों से कश्मीर के हिन्दुओं का आतंरिक रूप से विस्थापन हो रहा है. स्थिति काफी गंभीर है. लोगों को अपने ही देश में रहने में दिक्क्त हो रही है. सरकार को जल्द से जल्द इसका समाधान निकालना चाहिए।

Sudarshan News
  • Jun 20 2020 10:51PM

विश्व शरणार्थी दिवस के अवसर पर सामाजिक संस्था पनुन कश्मीर द्वारा कश्मीर के हिन्दुओं के नरसंहार के विषय पर पर अंतराष्ट्रीय वेबिनार का भव्य आयोजन किया गया. इस वेबिनार में देशभर के 7 नामी पैनलिस्टों ने चर्चा में भाग लिया। इस वेबिनार में हिन्दू जन जाग्रति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक सद्गुरु डॉ चारुदत्त पिंगले भी शामिल थे. अपने वक्तव्य में एक प्रश्न का जवाब देते हुए सद्गुरु जी ने कश्मीर में हिन्दुओं पर हो रहे हमले की जमकर आलोचना की. इस दौरान उन्होंने  कहा, कि इसमें कोई शक नहीं है कि सरकारों ने हिन्दुओं के नरसंहार पर आँखे मूंद ली हैं. कश्मीर की तरह का सिस्टर डिज़ाइन देश के कई अन्य राज्यों में भी देखने को मिल रहा है. केरल, तमिलनाडु, असम, पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं पर जमकर अत्याचार किया जा रहा है. सब मौन है, किसी को सुध लेने की नहीं पड़ी है. इस वेबिनार में सद्गुरु ने आतंकवाद और नक्सलवाद के मुद्दे पर भी विचार रखे. 

कार्यक्रम का आकर्षण यूनाइटेड किंगडम के हैरो ईस्ट से सांसद और पद्मश्री बॉब ब्लैकमैन थे. माननीय सदस्यगण ने वेबिनार में कहा," मैं कश्मीर के हिन्दुओं की स्थिति से पूरी तरह से अवगत हूँ. पिछले तीन दशकों से कश्मीर के हिन्दुओं का आतंरिक रूप से विस्थापन हो रहा है. स्थिति काफी गंभीर है. लोगों को अपने ही देश में रहने में दिक्क्त हो रही है. सरकार को जल्द से जल्द इसका समाधान निकालना चाहिए। 

विश्व हिन्दू परिषद यूएसए के अध्यक्ष डॉ अभय अस्थाना ने भी इस मुद्दे पर अपनी चिंता जताई। उन्होंने कहा," विश्व हिन्दू परिषद् कश्मीरी हिन्दुओं के साथ पूरी एकजुटता से खड़ी है. हम आप सभी को न्याय दिलाने के लिए हरसंभव सहायता करेंगे। जहाँ तक सरकार से बात करने का विषय है उसपर भी हमारा निर्णय एकमत रहेगा। हिन्दुओं पर हो रहा अत्याचार सरासर गलत है. इसे रोकना ही होगा। 

हालाँकि इस दौरान प्रख्यात इतिहासकार पद्मश्री काशी नाथ पंडिता ने अपने अनुभवों को याद करते हुए एकमतिया निर्णय लेने की बात करते हुए कहा," सरकार को कश्मीर में तुष्टिकरण का रास्ता अपनाना होगा, इस मुद्दे को सुलझाने के लिए सरकार को कड़े कदम उठाने ही होंगे। 

कार्यक्रम के अंत में पनुन कश्मीर के अध्यक्ष डॉ अजय च्रंगु ने संगठन के रुख का विस्तार करते हुए कहा," इस वर्ष के अंतरराष्ट्रीय शरणार्थी दिवस पर हमें नरसंहार और नरसंहार के निषेध के लिए खुद को समर्पित करना चाहिए। इस विधेयक के लिए एक सार्वजानिक समर्थन का निर्माण होना चाहिए ताकि इसे संसद में अधिनियम के रूप में पेश करके पारित कराया जा सके. धारा 370 और जम्मू-कश्मीर के गठन के बाद यह लक्ष्य आसान सा दिख रहा है, लेकिन आभलदे ख़तम नहीं हुई है. 

इस चर्चा के मुख्य अतिथियों में शामिल मशहूर पत्रकार, इतिहासकार, और भारतविद फ्रैंकोइस गौटियार ने भी हिन्दू समुदाय के ऊपर हो रहे अत्याचारों पर अपनी बात रखी और सरकार को इस पर कड़ा रुख लेने का भी आग्रह किया। 

इस चर्चा को लाखों लोगों ने फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से भी देखा। इस दौरान कई लोगों ने आगंतुकों से अपने सवाल भी पूछे। इस चर्चा को देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें। 

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=2309530272687378&id=1018174951549354

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
2 Comments

Kashmiri hinduon ka vapas janaa zaroori

  • Guest
  • Jun 21 2020 6:33:19:883PM

Bahut badiya ji

  • Guest
  • Jun 21 2020 6:32:56:207PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार