सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अब सिर्फ किस्से कहानियों में ही सिमटकर रह जायेगा... मुख्तार अंसारी की दहशत का साम्राज्य

मुख्तार अंसारी.. उसके परिजनों और गुर्गों के खिलाफ यूपी सरकार का रुख बताता है कि अब बस खत्म होने को है, इस बाहुबली की दहशत का साम्राज्य...

रजत मिश्र, उत्तर प्रदेश , Twitter: rajatkmishra1
  • Sep 13 2020 4:59PM

कुख्यात माफिया मुख्तार अंसारी और उसके गुर्गों के लिए आने वाले दिन और कष्टकारी हो सकते हैं। ज्ञातव्य है कि योगी सरकार इस गैंग पर लगातार कमरतोड़ प्रहार कर रही है। प्रदेश में सक्रिय माफिया मुख्तार अंसारी गैंग को पुलिस की कार्रवाइयों से अब तक 100 करोड़ रुपये से ज्यादा की चपत लगी है। इतना ही नहीं मुख्तार के सहयोगियों व परिवारीजनों के 72 शस्त्र लाइसेंस भी निरस्त-निलंबित किए गए हैं। 

गृह विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार गैंगस्टर एक्ट के तहत जब्त की गई संपत्तियों में केवल सरकारी जमीनों की कीमत 66 करोड़ रुपये है। इसके साथ ही गैंग की 41 करोड़ रुपये की अवैध सालाना कमाई बंद कराई गई। गैंग के कुल 96 सदस्य अब तक गिरफ्तार किए गए हैं, जिसमें 75 गैंगस्टर एक्ट के तहत गिरफ्तार हुए। इसके अलावा सात सहयोगी ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की गई। साथ ही गुंडा एक्ट के तहत गिरोह के 12 अपराधियों को छह माह के लिए जिला बदर किया गया। 

लखनऊ कमिश्नरेट में माफिया मुख्तार के निकट सहयोगी हरविन्दर सिंह उर्फ जुगनू की 2.31 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्तियां जब्त की गई हैं। पुलिस ने लखनऊ के अलावा वाराणसी, गाजीपुर व मऊ आदि जिलों में सक्रिय मुख्तार गैंग के सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई की है। पुलिस ने गैंग की अवैध वसूली, मछली के अवैध कारोबार, सरकारी जमीनों पर कब्जे और अवैध स्लाटर हाउस को बंद कराया। अवैध स्लाटर हाउस के संचालन में 26 लोग गिरफ्तार किए गए। इससे गैंग की 2.5 करोड़ रुपये की अवैध वार्षिक आय बंद हुई।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें