सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

अब एमएलसी चुनाव को लेकर बढ़ी राजनीतिक सरगर्मियां

अब शिक्षक और स्नातक एमएलसी सीटों के चुनाव को लेकर बढ़ी सरगर्मियां

रजत मिश्र, उत्तर प्रदेश , Twitter: rajatkmishra1
  • Nov 5 2020 2:36PM

विधान परिषद के शिक्षक व स्नातक कोटे की 11 सीटों के लिए बृहस्पतिवार को नामांकन शुरू होने के साथ ही प्रदेश में एक और सियासी बिसात सज जाएगी। लंबे समय तक शिक्षक दल (शर्मा गुट) के प्रभाव व पकड़ की पहचान बने ये चुनाव इस बार भाजपा, सपा, कांग्रेस और कुछ अन्य की विशेष दिलचस्पी तथा पिछले चुनाव में कुछ स्थानों पर बाजी पलट जाने के कारण खास बन गए हैं।

ये सभी 11 सीटें 6 मई को ही रिक्त घोषित हो चुकी थीं, पर कोरोना के चलते चुनाव अब हो रहे हैं। इनमें से दो पर भाजपा, दो पर सपा, चार पर शिक्षक दल शर्मा गुट व तीन पर निर्दल का कब्जा था। इनमें 5 स्नातक कोटे की हैं और 6 शिक्षक कोटे की। 2014 में हुए चुनाव में स्नातक कोटे की 5 सीटों में आगरा सपा, वाराणसी व इलाहाबाद-झांसी भाजपा, मेरठ शिक्षक दल शर्मा गुट और लखनऊ निर्दल उमेश द्विवेदी के कब्जे में रही थीं।

शिक्षक कोटे की सीटों में बड़ा उलटफेर करते हुए बरेली-मुरादाबाद में सपा समर्थित संजय मिश्र ने इस सीट से शर्मा गुट के मौजूदा एमएलसी सुभाष चंद्र शर्मा को पराजित कर शिक्षक संघ शर्मा गुट को बड़ा झटका दिया था। आमतौर पर इन चुनावों में अभी तक कोई बड़ा चामत्कारिक उलटफेर न कर पाने वाली भाजपा ने इस बार काफी तैयारी की है। मतदाताओं के नाम जुड़वाने से लेकर सभी जगह मंत्रियों के साथ पार्टी के वरिष्ठ लोगों को प्रभारी बनाकर लगाया गया है। पार्टी ने 11 में से 9 के उम्मीदवार भी तय कर दिए हैं।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार