सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बंगलादेशी घुसपैठियों का BSF पर हमला.. प्रार्थना कीजिये उन 3 जांबाजो के लिए जो हैं बुरी तरह से घायल

पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में हुई है ये दुस्साहसिक घटना..

Rahul Pandey
  • Jul 5 2020 10:07AM

यह वह समय है जब सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से  संघर्षविराम होता रहता है चीन की सीमा पर भारत की सेना युद्ध के लिए पूरी तैयार खड़ी हुई है। इस समय दुनिया के तमाम देश  जिसमें भूटान अमेरिका ऑस्ट्रेलिया जापान फिलीपींस वियतनाम ताइवान फ्रांस जैसे देशों ने खुलकर भारत का पक्ष लिया है किसी भी स्थिति में भारत को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है।  उसी समय भारत के अंदर वाह बाहर के कुछ ऐसे तत्व अपनी हरकत के साथ अपनी नीचता युक्त सोच को खुलकर सामने रख रहे हैं और उन्हें तत्वों में एक है वह बांग्लादेश जिस पर भारत का एहसान है। इस एहसान को दुनिया मानती है परंतु शायद खुद बांग्लादेश इसे भूल चुका है जिसे सीधी भाषा में एहसान फरामोशी कहा जाता है। गौर करने योग्य की भारत की तथाकथित धर्मनिरपेक्षता की आड़ में करोड़ों बंगलादेशी घुसपैठिए भारत में पल रहे हैं।

इन्हें जब निकालने की प्रक्रिया शुरू हुई  तब सीएए और एनआरसी का बहाना लेकर पूरे भारत में धरना प्रदर्शन और हिंसक कृत्य किए गए इसमें खुद बांग्लादेशी शामिल थे। खुलकर के भारत के विपक्षी नेताओं ने इन हिंसक लोगों का साथ दिया और इनसे समाज की रक्षा करने वाले पुलिस बल के खिलाफ मानवाधिकार आयोग गए जिसमें इन घुसपैठियों को मासूम और बेचारा बताया गया और जांबाज पुलिस कर्मियों को हिंसक और क्रूर घोषित किया गया। इन्हीं दुस्साहस के दम पर अब बांग्लादेशी घुसपैठिए  खुलकर नंगा नाच करने पर उतारू हो गए हैं और उन्होंने इसके लिए स्थान चुना है वह पश्चिम बंगाल जो   भारत की सबसे बड़ी तथाकथित सेकुलर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा शासित है ।

 विदित हो कि पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में बांग्लादेशी घुसपैठियों ने दुस्साहस की सभी सीमाओं को पार करते हुए बीएसएफ पर घात लगाकर हमला किया है इस हमले में तीन बीएसएफ के जवान बुरी तरह घायल हुए हैं। बताया जा रहा है कि यह घुसपैठ भारत में नशीली और मादक द्रव्यों की तस्करी के लिए प्रयासरत थी जिसे बीएसएफ ने जांबाजी से निष्फल कर दिया.. घटना राज्य के उत्तर 24 परगना जिले में बीएसएफ की बांसघाटा चौकी के पास तीन-चार जुलाई की दरम्यानी रात को हुई. बीएसएफ कर्मियों ने गैर घातक बंदूकों का इस्तेमाल किया, जिसके बाद तस्कर भाग गए.

बीएसएफ की 107वीं बटालियन के जवान सीमावर्ती इलाके में थे, तभी रात के अंधेरे में (करीब साढे तीन बजे) 10-12 बांग्लादेशी तस्कर दिखे तो बीएसएफ के जवानों ने उन्हें ललकारा. बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घुसपैठी तस्करों ने बीएसएफ दल को घेर लिया और जवानों पर बांस के डंडों और तेज धारदार हथियारों से बर्बर हमला किया. उन्होंने बताया कि इस हमले में तीन जवान जख्मी हो गए. घायल जवानों का इलाज अस्पताल में चल रहा है जिनके लिए राष्ट्रभक्त जल्दी स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहा है।  इसी के साथ देश इन घुसपैठियों के खिलाफ आक्रोशित हो गया है।

 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

मुझे जॉब के लिए कोई से देश में भी भेज दिया जाए मेरा मोबाइल नंबर 8006607668

  • Guest
  • Jul 6 2020 12:47:11:827AM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार