सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अब रक्त से नहाया स्वीडन.. खून बहाने के लिए उन्मादी ने चलाई कुल्हाड़ी

दुनिया भर के वामपंथी वर्ग में इस घटना पर छाई खामोशी।

Rahul Pandey
  • Mar 4 2021 9:29AM
कहीं-कहीं कहा जाता है कि एक लंबी खामोशी किसी आने वाले तूफान का संकेत होती है और उस तूफान का संकेत यूरोप के काफ़ी समय से शांत पड़े देश स्वीडन को मिल भी रहा था। 

देश और दुनिया के साथ-साथ मानवता के भी दुश्मन बन कर घूम रहे एक विशेष प्रकार के लोगों के समूह ने फिर से स्वीडन को रक्त से लाल कर दिया है और इस बार हमले का हथियार बनाया गया है एक धारदार कुल्हाड़ी को जिसके निशाने पर स्वीडन के वह निवासी थे जिनकी हमलावर से कोई दुश्मनी नहीं थी सिवाय एक खास सोच से जन्म लेने वाली नफरत के।

मीडिया रिपोर्ट से मिल रही खबरों के अनुसार स्वीडन के वेटलैंड शहर में बुधवार को एक उन्मादी  ने आठ लोगों को चाकू मार दिया, जिसमें से पांच को गंभीर रूप से घायल कर दिया।

हमलावर आतंकी को पैर में गोली लगने के बाद अस्पताल ले जाया गया क्योंकि उसे दक्षिणी शहर में 13,000 निवासियों के मध्य दोपहर के हमले के बाद हिरासत में ले लिया गया था।

एएफपी से बात करते हुए, पुलिस ने कहा कि उसके बिसवां दशा में आदमी ने एक “तेज हथियार” का इस्तेमाल किया था, जबकि स्थानीय मीडिया ने बताया कि उसने चाकू का इस्तेमाल किया था।

पुलिस ने शुरू में इस घटना को “हत्या का प्रयास” माना, लेकिन बाद में एक बयान में इसे “संदिग्ध आतंकवादी अपराध” में शामिल किया गया, और अधिक विवरण के बिना।

जोंकोपिंग में अस्पताल से बाहर आने की सूचना के अनुसार, जिन लोगों पर हमला किया गया उनमें से तीन को जानलेवा चोटें आईं, जबकि दो अन्य गंभीर हालत में थे।

शेष तीन को हल्की चोटें आईं।

स्थानीय निवासी ओलिविया स्ट्रैंडबर्ग ने ब्रॉडकास्टर एसवीटी को बताया कि उसने वास्तविक हमले को नहीं देखा, लेकिन देखा कि आदमी को उसकी खिड़की से दूर ले जाया जा रहा है, जैसे वह काम से घर लौटी थी।

“मैं अपने अपार्टमेंट में बस गया था जब मेरे सबसे अच्छे दोस्त ने मुझे लिखा और कहा: बाहर मत जाओ!”

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, क्षेत्रीय पुलिस प्रमुख मैलेना ग्रैन ने बाद में स्पष्ट किया कि प्रारंभिक जांच अभी भी “हत्या के प्रयास” के तहत की गई थी, लेकिन विवरण सामने आया था कि उनका मतलब “संभावित आतंकी उद्देश्यों” पर भी था।

ग्रान ने कहा, “जांच में ऐसे विवरण हैं जिनसे हमें पता चलता है कि क्या कोई आतंकी मकसद था।”

ग्रान ने कहा कि पुलिस स्वीडिश खुफिया सेवा सैपो के साथ मिलकर काम कर रही थी।

कार्ल मेलिन, सपो में प्रमुख, हालांकि, एसवीटी से यह कहते हुए टिप्पणी करने से इनकार कर दिया: “वेटलैंड में घटना वर्तमान में एक पुलिस मुद्दा है।”

‘नीच कर्म’
स्थानीय पुलिस प्रमुख जोनास लिंडेल ने मीडिया को बताया कि उन्होंने पांच अलग-अलग अपराध दृश्यों, कुछ सौ मीटर (गज) के अलावा छोटे शहर में पहचान की थी।

लिंडेल ने कहा कि संदिग्ध क्षेत्र का निवासी था और पहले से पुलिस को पता था, लेकिन अतीत में केवल “छोटे अपराधों” का संदेह था। उन्होंने यह कहने से इनकार कर दिया कि क्या वह आदमी स्वीडिश नागरिक था।

उनकी चोटों की सीमा भी अज्ञात थी लेकिन पुलिस ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि वे उससे पूछताछ कर सकेंगे।

स्वीडिश प्रधानमंत्री स्टीफन लोफवेन ने अपने फेसबुक पेज पर प्रकाशित एक बयान में “भयानक हिंसा” की निंदा की।

“हम समुदाय के संयुक्त बल के साथ इन नीच कार्यों का सामना करते हैं,” लोफवेन ने कहा। “हमें याद दिलाया जाता है कि हमारा सुरक्षित अस्तित्व कितना कमजोर है,” लोफवेन ने कहा, लोगों को अपने विचारों में पीड़ितों के साथ-साथ स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और पुलिस को घायल करने और शांति बहाल करने के लिए काम करने के लिए प्रोत्साहित करना।

स्वीडिश खुफिया सेवाएं आतंकवादी खतरे को अधिक मानती हैं। हाल के वर्षों में हमलों से स्कैंडिनेवियाई देश को दो बार निशाना बनाया गया है।

दिसंबर 2010 में, एक व्यक्ति ने स्टॉकहोम के केंद्र में आत्मघाती बम हमला किया। राहगीरों को केवल मामूली चोट लगने से ही उनकी मृत्यु हो गई।

अप्रैल 2017 में, एक खारिज कर दिया और कट्टरपंथी उज़्बेक शरण चाहने वाले ने एक चोरी के ट्रक के साथ स्टॉकहोम में पैदल यात्रियों को नीचे गिरा दिया, जिससे कुछ लोगों की मौत हो गई। उन्हें जेल में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

सुल्तान के सभी उच्च अधिकारियों ने इस मामले को आतंकी हमला होने का संदेह जताया है और सुरक्षा व्यवस्था को और सख्त करने का निर्देश दिया है। इस घटना ने यूरोप के बाकी देशों में भी खलबली मचा दी है और अब लोग अपने शासन से आतंकवाद के इस घिनौने रूप के स्थाई समाधान की मांग कर रहे हैं।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

54 Comments

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:31:120PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:30:207PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:29:377PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:28:507PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:27:603PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:25:453PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:22:960PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:20:463PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:17:907PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:15:130PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:13:160PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:11:643PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:09:960PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:08:300PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:06:510PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:04:380PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:01:900PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:10:00:257PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:58:253PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:56:837PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:54:160PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:51:617PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:48:307PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:45:477PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:43:480PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:41:680PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:40:353PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:39:333PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:38:410PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:37:480PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:36:597PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:35:573PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:34:580PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:33:613PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:32:513PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:31:120PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:30:117PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:29:047PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:27:947PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:26:773PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:25:803PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:24:783PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:23:853PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:22:927PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:21:930PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:20:827PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:19:690PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:18:343PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:17:087PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:15:853PM

Should have think

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:09:14:607PM

Terrorism is International Problem.So People of World should have and take Hard and fast action against it.

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:07:56:427PM

Terrorism is International Problem.So People of World should have and take Hard and fast action against it.

  • Guest
  • Mar 4 2021 11:07:55:947PM

जय श्रीराम

  • Guest
  • Mar 4 2021 4:42:23:047PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार