सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

देश की क्षेत्रीय अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं, भारतीय सेना

भारत और चीन के बीच पांचवें दौर की बात में भारत ने ये साफ कर दिया कि वह देश की क्षेत्रीय अंखडता के साथ कोई समझौता नहीं करेगा। ये भी साफ कहा है कि पैंगोंग सो और पूर्वी लद्दाख में विवाद के कुछ अन्य स्थानों से सैनिकों की वापसी जल्द से जल्द पूरी होनी चाहिए।

Anchal Yadav
  • Aug 4 2020 6:57AM
भारतीय सेना ने चीनी सेना को पांचवें दौर की सैन्य वार्ता में यह स्पष्ट संदेश दिया है कि वह देश की क्षेत्रीय अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं करेगी और पैंगोंग सो तथा पूर्वी लद्दाख में विवाद के कुछ अन्य स्थानों से सैनिकों की वापसी जल्द से जल्द पूरी होनी चाहिए। घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। दोनों देशों की सेनाओं के वरिष्ठ कमांडरों ने एलएसी पर चीन की तरफ मोल्दो में लगभग 11 घंटे तक गहन वार्ता की।अधिकारियों ने बताया कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने स्पष्ट और कड़े शब्दों में चीनी पक्ष को बताया कि दोनों देशों के बीच समग्र संबंधों के लिए पूर्वी लद्दाख के सभी क्षेत्रों में विवाद शुरू होने से पहले की यथास्थिति की बहाली आवश्यक है और बीजिंग को विवाद के बाकी बिन्दुओं से सैनिकों की वापसी सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्होंने बताया कि यह संदेश स्पष्ट रूप से दिया गया कि भारतीय सेना देश की क्षेत्रीय सीमाओं के साथ कोई समझौता नहीं करेगी। चीनी सेना गलवान घाटी और कुछ अन्य इलाकों से पीछे हट गई है, लेकिन इसके सैनिक पैंगोंग सो में फिंगर फोर और फिंगर आठ से पीछे नहीं हटे हैं, जिसकी भारत मांग कर रहा है।और राजनीतिक नेतृत्व से भी विमर्श करना है। उन्होंने बताया कि थलसेना अध्यक्ष जनरल एम एम नरवणे को रविवार को हुई वार्ता के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। इसके बाद उन्होंने पूर्वी लद्दाख की समूची स्थिति के बारे में वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ चर्चा की।ऐसा माना जाता है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल तथा विदेश मंत्री एस जयशंकर को भी वार्ता से संबंधित जानकारी दी गई और सीमा विवाद को निपटाने के दायित्व से जुड़े सभी सैन्य और रणनीतिक अधिकारी अब समग्र स्थिति के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा कर रहे हैं। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने किया, जो लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर हैं। चीनी पक्ष का नेतृत्व मेजर जनरल लिउ लिन ने किया, जो दक्षिणी जिनजियांग क्षेत्र के कमांडर हैं।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार