सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

सच मे हीरो ही निकले हीरो साईकिल वाले.. उस Bollywood को सिखाई देशभक्ति जो युद्ध काल मे भी बुलाते हैं पाकिस्तानियों को

कभी कला के नाम पर तो कभी खेल के नाम पर पाकिस्तान परस्त कृपया ध्यान दें.

Rahul Pandey
  • Jul 5 2020 4:44AM

कभी कला के नाम पर तो कभी खेल के नाम पर प्रकार से इतिहास में भारत के सबसे बड़े दुश्मन पाकिस्तानियों की पैरवी की गई उसमें सबसे आगे रहा तो बॉलीवुड।। उधर सीमाओं पर सैनिक बलिदान होते रहे इधर यह पाकिस्तानी कलाकारों को बुलाकर नाचते रहे। असल में इन सब मामलों का आधार पैसा था  जो भारत में भारत की जनता से अथाह मात्रा में कमा कर के भी पेट न भरना और उसी  पैसे कीभूख को पाकिस्तानियों से भी मिटाने की शौक ..,  और उसी शौक के लिए ढेर सारी कुतर्क। फिलहाल उद्योग जगत से एक बड़ा सन्देश है पैसे के भूखे उन कुतार्कियो के लिए. बचपन में अपने जी साइकिल पर सवारी की रही होगी यकीनन अपने पहले वाहन के रूप में आपने वह साइकिल भी खरीदी रही हो उसका नाम हीरो रहा होगा ।

साइकिल क्षेत्र की अग्रणी कंपनी हीरो ने एक बार फिर देशवासियों के सामने यह साबित कर दिया है कि वह सच में हीरो ही है। यह वह समय है जब भारत की सीमाएं चीन जैसे विश्वासघाती से असुरक्षित करने के तमाम अंतर्राष्ट्रीय को कृत्य किए गए। सरहद पर हमारी सेनाओं ने अदम्य साहस दिखाते हुए चीन जैसे गद्दार देश के हौसले पस्त किए हैं सब ठीक उसी समय देश के अंदर भी कई ऐसे हीरो चर्चा में हैं जिन्होंने चीन के हौसलों को पस्त करने में सेना और सरकार का उत्साह बढ़ाया है । उन्हें तमाम हीरो में एक हीरो है हीरो साइकिल।

ध्यान देने योग्य यह भी है कि भारत सरकार के साथ-साथ सुदर्शन न्यूज़ ने दशक से चीन के संपूर्ण बहिष्कार की मुहिम को छेड़ा हुआ है। उसी क्रम में भारत सरकार 59 चीनी ऐप को देश के मोबाइलों से प्रतिबंधित कर दिया लेकिन अब भारत का उद्योग जगत भी चीन को जमीन पर लाने के लिए सक्रिय हो चुका है.  कई प्रतिष्ठित कंपनियां भी अपने क्षणिक लाभ को त्याग कर चीन के साथ अपने कॉन्ट्रैक्ट तोड़ रही हैं। 

इसी क्रम में हीरो साइकिल ने भी एक बहुत बड़ा और प्रेरणादायक निर्णय करते हुए 900 करोड़ रुपये का चीन से हुआ समझौता रद्द कर के चीन को चौंका दिया है। हीरो क्यों हीरो कही जाती है इसको ऐसे भी समझा जा सकता है कि कोरोना काल मे हीरो साइकिल ने सरकार को 100 करोड़ रुपये दान में दिए थे। हीरो साइकिल ने एक ओर चीन का बहिष्कार करते हुए उसके साथ 900 करोड़ का बिजनेस रद्द कर दिया, जो आने वाले 3 महीनों में किया जाना था। दूसरी ओर हीरो कंपनी लुधियाना में साइकिल के पुर्जे बनाने वाली छोटी कंपनियों की मदद के लिए आगे बढ़ी है और उन्हें खुद में मर्ज करने का ऑफर दे रही है। कुल मिलाकर के यहां आत्मनिर्भर भारत विदिशा में हीरो कंपनी की तरफ से बहुत बड़ा कदम माना जाएगा।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

Aapko naman hai

  • Guest
  • Jul 5 2020 7:54:47:443AM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार