सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

संतो की हत्या का तमाशा देखने वाली पालघर पुलिस के मुखिया भेजे गये छुट्टी पर. सुदर्शन लगातार उठा रहा न्याय की आवाज

पालघर पुलिस प्रमुख को क्यों भेजा गया अवकाश पर अभी तक स्पष्ट नहीं.

मनीष गुप्ता
  • May 8 2020 11:02AM

ये वो घटना है जिसने देश को हिला कर रख दिया था. इस घटना ने हर किसी के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी थी और सवाल उठने लगा था कि क्या पुलिस भी उनको बचाने में अब सक्षम नहीं है जिन्होंने खाकी वर्दी पहन रखी है ? यद्दपि इस मामले में सरकार का कदम पुलिस से भी ज्यादा सवालों के घेरे में रहा और क्या हो रहा ये किसी को पता नहीं है अब तक. मात्र कुछ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर के इतिश्री कर लेने वाले महाराष्ट्र शासन ने अब एक और कदम उठाया है उस जिले की पुलिस के मुखिया को छुट्टी पर भेज कर, जिस जिले की पुलिस ने अपनी आँखों के आगे ही साधुओं का निर्मम नरसंहार देखा और कहना गलत नहीं होगा कि खुद से ही संतो को मौत के हवाले कर दिया था.. 

सुदर्शन न्यूज़ ने ही मामले को प्रमुखता से दिखाया अन्यथा इसको दबाने ही नही बल्कि अपराधियों को बचाने के भी तमाम प्रयास जारी थे. ध्यान देने योग्य है कि पालघर जिले में 16 अप्रैल की रात को हजारों की भीड़ ने दो साधुओं और उनके एक ड्राईवर की निर्मम हत्या कर दिया पोलीस की मौजूदगी में , साधुओं ने अपने बचाव में पोलिस का हाथ पकड़ा रहे थे बार बार मगर कायर पोलिस ने साधुओं को भीड़ के हवाले कर दिया आखिर क्यो । सुदर्शन न्यूज़ की टीम ने इस मामले पर जाँच पड़ताल किया तो हमारे टीम को यह मालूम हुआ कि यहां पर आदिवासी इलाका होने के वजह से यहां पर ईसाई मिशनरियों द्वारा बहुत से आदिवासियों का धर्म परिवर्तन किया जाता है ।

इतने बड़े हत्याकांड पर पोलिस दो दिनों तक मौन बैठी रही पालघर पोलिस को लग रहा था यह मामला यही निपट जाएगा औऱ पोलिस ने बड़ी ताकत के साथ इस मामले को लीपापोती करने में लगी थी , यह मामला जब मीडिया में उठने लगा तो तब जाकर पोलिस ने आनन-फानन में आकर 110 लोगो के खिलाफ FIR दर्ज किया , 101 लोगो को अपने हिरासत में लिया , इस मामले में पांच पुलिसकर्मी को निलंबित किया गया है और कासा पोलिस स्टेशन के 35 पुलिसकर्मीयो का जिले के विभिन्न पुलिस स्टेशन में तबादला किया गया है । आज राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने आज पालघर के स्थल पर भेट दी तथा स्थानिक लोक प्रतिनिधि, गाव के सरपंच सहित विधायक ,सांसद की बैठक हुई जिस में घटना पर चर्चा हुई है। गृहमंत्री अनिल देशमुख गुरुवार की रात पालघर से लौटने के बाद साधु हत्याकांड पर जिले के पुलिस अधिक्षक गौरव सिंह को छुट्टी पर भेज दिया है । पालघर के एडिशनल SP को पालघर जिला काअतिरिक्त चार्ज दिया गया है।

देखिये इस मुद्दे पर सुरेश चव्हाणके जी द्वारा किया गया बिंदास बोल -

 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार