सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

"ईद बाद भारत पर हमला करेगा तालिबान"- पाकिस्तानी मीडिया.. अपने नापाक मंसूबों में सफल होता जफरुल इस्लाम

जफरुल इस्लाम ने उकसाया था मुस्लिम देशों को भारत पर हमले के लिए। जिस पर अभी तक नहीं हो पाई कोई भी कार्यवाही।

Sudarshan News
  • May 17 2020 4:38PM

अभी कुछ ही दिन पहले की बात है  जब भारत के अंदर का जन्मा एक नया दौलत खान विदेशी मुस्लिमों को भारत पर हमले के लिए सोशल मीडिया से उकसा रहा था. इस गड्डार के खिलाफ प्रखर आवाज उठाई थी सुरेश चव्हाणके जी ने और मांग की थी कि किसी भी हाल में इसको गिरफ्तार कर के जेल भेजा जाए..इसका नाम जफरुल इस्लाम है जो अरविंद केजरीवाल का बेहद करीबी व दिल्ली के अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष है... इसने सोशल मीडिया पर भारत के मुस्लिमो को हिंदुओं द्वारा प्रताड़ित लिखते हुए इस्लामिक मुल्कों को भारत के खिलाफ उकसाने वाली तमाम बातें लिखी थी..

भारत की मीडिया का वामपंथी वर्ग उस समय भी चुपचाप रह कर अपने द्वारा बनाए गए सेकुलरिज्म के नकली सिद्धांत का पालन करता रहा लेकिन सुरेश चौहान के जीने जफरुल इस्लाम के विरुद्ध f.i.r. करके और उन्हें तत्काल जेल भेजने की मांग को लगातार बिंदास बोल से उठाया और आखिरकार जफरुल इस्लाम पर f.i.r. दर्ज हुई लेकिन मौलाना साद की तरह जफरुल इस्लाम के आगे भी घुटने टेक रही दिल्ली पुलिस उसे गिरफ्तार करने में असफल रही और उसका प्रतिफल अब साफ-साफ सामने दिख रहा है

 ध्यान देने योग्य है कि पाकिस्तान की मीडिया ने बाकायदा ब्रेकिंग न्यूज़ चलाते हुए इस बात का दावा किया है कि तालिबान के प्रवक्ता ने ट्विटर हैंडल से है साफ तौर पर ऐलान किया है कि ईद के बाद तालिबान भारत के खिलाफ एलान-ए-जंग करेगा। पाकिस्तानी मीडिया के वायरल हो रहे वीडियो के अनुसार अपने ट्वीट में तालिबान ने भारत मे मुसलमानों को हिंदुओं द्वारा परेशान करने की  बात कही है.. कुल मिला कर अगर पाकिस्तानी मीडिया की इस खबर को सही माना जाय तो इस्लामिक आतंकी दल तालिबान ने ठीक वही बातें बोली हैं जो अरविंद केजरीवाल के साथी  जफरुल इस्लाम में अपनी फेसबुक पर लिखी थी। 

 कुल मिला कर  जफरूल इस्लाम को गिरफ्तार ना करना और उसके आगे घुटने टेकना कहीं नहीं दुनिया भर को एक नकारात्मक संदेश बन के गया जिसके बाद तालिबान जैसे आतंकी संगठनों की तरफ से भारत के विरुद्ध युद्ध के ऐलान तक आ गए. पाकिस्तान की मीडिया एक ट्वीट के हवाले से सारी खबर प्रमुखता से चला रही है और अपने दावे पर कायम है . इस खबर के विरोध में अभी तक पाकिस्तान की सरकार ने भी कोई खंडन जारी नहीं किया है जिससे कहीं न कहीं तालिबान का जंग वाला दावा पुख्ता होता दिखाई दे रहा है।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार