सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

विकास दुबे के खात्मे के बाद अब उसके बचे हुए गैंग पर शिकंजा..मुंबई ATS ने ठाणे से विकास के खास गुर्गे गुड्‌डन और उसके साथी को किया गिरफ्तार..

कानपुर शूटआउट में शामिल थे दोनों अपराधी, शूटआउट के बाद मुंबई में जाकर गए थे छिप, विकास दुबे के पॉलिटिकल कनेक्शन बनवाने अरविंद को मुंबई एटीएस ने सटीक इनपुट के बाद किया गिरफ्तार..

रजत मिश्र, उत्तर प्रदेश, ट्विटर- @rajatkmishra1
  • Jul 11 2020 5:10PM

2 जुलाई को कानपुर के बिकरु गांव में हुए शूटआउट में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में दोनों नामजद अभियुक्तों को मुम्बई ATS ने ठाणे से गिरफ्तार किया है। ये दोनों अभियुक्त 8 दिन से फरार थे। ग़ौरतलब है कि कानपुर शूट आउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे को गुरुवार को उज्जैन में गिरफ्तार किया गया था और शुक्रवार सुबह कानपुर के पास एनकाउंटर में वह मारा गया। कानपुर शूटआउट के बाद से ही विकास दुबे गैंग के मेंबर अलग-अलग स्थानों पर भाग गए थे यूपी पुलिस ने अन्य प्रदेशों की पुलिस के साथ समन्वय बनाकर उन लोगों की जानकारी पुलिस तक पहुंचाई थी जिसके बाद कई राज्यों की पुलिस ने अपने स्थानों पर दबिश दी।

विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अब उसके क़रीबियों पर शिकंजा - 

 महाराष्ट्र ATS प्रमुख और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट दया नायक ने विकास के दो गुर्गों को ठाणे से गिरफ्तार किया है। ये दोनों 2 जुलाई को कानपुर के बिकरु गांव में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में फरार चल रहे थे। गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान अरविंद उर्फ गुड्डन रामविलास त्रिवेदी और सुशील कुमार उर्फ सोनू तिवारी के रूप में हुई है। गुड्डन त्रिवेदी के बारे में कहा जाता है कि यह राजनीति में सक्रिय था और इसने विकास की कई बड़े नेताओं से मुलाकात करवाई थी। जिसके बाद विकास राजनीति की सीढ़ियां चढ़ता जा रहा था।

सटीक इनपुट पर महाराष्ट्र ATS ने मारी दबिश, हत्थे चढ़े दोनों अपराधी - 

महाराष्ट्र एटीएस के अनुसार, एटीस की जुहू यूनिट को मुंबई और ठाणे में विकास के कुछ करीबियों के छिपे होने की जानकारी मिली। इसके बाद पुलिस इंस्पेक्टर और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट दया नायक के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। इस टीम ने शनिवार सुबह ठाणे के कोलशेत रोड पर एक घर पर छापा मारा। यहां गुड्डन त्रिवेदी और उसके ड्राइवर सोनू तिवारी को गिरफ्तार किया है। 46 वर्षीय त्रिवेदी पर भी 2001 में यूपी के राज्यमंत्री संतोष शुक्ल की हत्या की साजिश का आरोप था। महाराष्ट्र एटीएस को दोनों अपराधियों के छुपे होने का सटीक इनपुट मिला था, इनपुट मिलने के बाद एटीएस ने पूरी तैयारी के साथ छापा मारा जिससे दोनों अभियुक्तों को भागने का मौका नहीं मिला।

रिमांड पर भेजे जाएंगे यूपी - 

दोनों अभियुक्तों के गिरफ्तार होने की सूचना मुंबई पुलिस ने उत्तर प्रदेश पुलिस को दे दी है जिसके बाद इन दोनों अभियुक्तों को रिमांड पर लेने के लिए यूपी पुलिस की टीम मुंबई रवाना हो रही है जहां से दोनों अभियुक्तों को उत्तर प्रदेश वापस लाया जाएगा गिरफ्तार अभियुक्तों में से एक गुड्डन विकास दुबे की राजनैतिक रूप से मदद करता था वही विकास दुबे को अलग-अलग पार्टी के राजनेताओं से मिलवाता था। 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार