सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

सर संघ चालक मोहन भागवत जी ने की इमाम प्रमुख उमर इलियासी से मुलकात, इलियासी का बयान "मोहन भागवत जी राष्ट्रपिता और राष्ट्र ऋषि हैं, उन्होंने जो बोला सब सही है" मुलाकात पर भड़का ओवैसी, उगला जहर

​राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख से मिलने के बाद अखिल भारतीय इमाम संगठन के चीफ इमाम उमर अहमद इलियासी ने मोहन भागवत को 'राष्ट्रपिता' कहा है।

Vaishnavi Chauhan
  • Sep 22 2022 4:38PM

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख से मिलने के बाद अखिल भारतीय इमाम संगठन के चीफ इमाम उमर अहमद इलियासी ने मोहन भागवत को 'राष्ट्रपिता' कहा है। एक चैनल को दिए इंटरव्यू में जब पूछा गया कि भागवत ने कुछ समय पहले कहा था कि भारत के हिंदू और मुसलमान का डीएनए एक है और मुसलमान के बिना हिंदुस्तान पूरा नहीं होता। इस पर इमाम इलियासी ने कहा, 'जो उन्होंने कहा है वह सही है। चूंकि वह राष्ट्र पिता हैं जो उन्होंने कह दिया वो ठीक है।' उन्होंने कहा कि हम सभी का मानना है कि देश पहले आता है। इमाम संगठन के प्रमुख ने कहा कि हमारा डीएनए एक ही है, केवल ईश्वर की इबादत का तरीका अलग है। उन्होंने कहा कि मदरसे में आरएसएस चीफ ने बच्चों के साथ बातचीत भी की।

 इससे कुछ समय पहले सर संघ चालक मोहन भागवत जी ने ऑल इंडिया मुस्लिम इमाम ऑर्गेनाइजेशन प्रमुख उमर इलियासी से मुलकात की। ये मुलाकात दिल्ली के कस्तूरबा गांधी मार्ग मस्जिद में हुई. यह बैठक करीब एक घंटे तक चली. बता दें कि मोहन भागवत जी की मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ एक महीने में यह दूसरी बैठक है. इससे पहले मोहन भागवत जी ने मुस्लिम बुद्धिजीवियों के एक पांच सदस्यीय दल ने मुलाकात की थी. 

संघ प्रमुख की इमाम उमर अहमद इलियासी के साथ करीब एक घंटे चली बैठक बंद कमरे में हुई. RSS के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने इसे लेकर कहा कि RSS सरसंघचालक जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों से मिलते हैं. यह एक सतत सामान्य संवाद प्रक्रिया का हिस्सा है. उमर अहमद इलियासी के साथ बैठक के दौरान भागवत के साथ संघ के कृष्ण गोपाल, राम लाल और इंद्रेश कुमार भी मौजूद रहे. लेकिन यह एआईएमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी को रास नहीं आया। ओवैसी इस मुलाकात के बाद भौखला गए है। ओवैसी ने कहा कि "मुस्लिम बुद्धिजीवियों को जमीनी हकीकत से कोई लेना-देना नहीं है"।

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

ताजा समाचार