सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बच्चियों के बलात्कार का अड्डा बन गया था "मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट" ... टेरेसा नामधारी संस्था का वो सच जिससे अनजान था देश

एसपी ने बताया कि रेस्क्यू की गई लड़कियों की उम्र 16 और 17 साल है, जिन्होंने वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्यम से अपना बयान दर्ज कराया है और साथ ही स्पेशल POCSO कोर्ट में अपने इन बयानों को दोहराया भी है

Abhay Pratap
  • Jun 11 2021 3:24PM

झारखंड के पूर्वी सिंहभूमि स्थित मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट की वो काली सच्चाई सामने आई है, जिससे हड़कंप मच गया है. खबर के मुताबिक़, ट्रस्ट के शेल्टर होम में 2 बच्चियों के यौन शोषण का मामला सामने आया है. पुलिस ने आशंका जताई है कि इसमें रहने वाली अन्य बच्चियाँ भी इसका शिकार रही हो सकती हैं. ‘मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट (MTWT)’ द्वारा संचालित इस ट्रस्ट में आए मामले की जाँच के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए एसपी डॉक्टर एम तमिल वणन ने बताया कि पिछले 4 वर्षों से अन्य नाबालिग लड़कियाँ भी यौन उत्पीड़न का शिकार हो रही थीं.

रेस्क्यू की गई दोनों लड़कियों की शिकायत के बाद ‘यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण करने संबंधी अधिनियम (POCSO)’ के तहत शेल्टर होम के निदेशक हरपाल सिंह थापर के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है, साथ ही उनकी पत्नी पुष्पा रानी तिर्की को भी आरोपित बनाया गया है. बता दें कि पुष्पा ‘ईस्ट सिंहभूम डिस्ट्रिक्ट चाइल्ड वेलफेयर कमिटी (CWC)’ की अध्यक्ष भी हैं. साथ ही वार्डन गीता सिंह, उनके बेटे आदित्य सिंह और साथ ही टोनी सिंह नाम के एक कर्मचारी को भी आरोपित बनाया गया है. सारे के सारे आरोपित फरार हैं.

एसपी ने बताया कि रेस्क्यू की गई लड़कियों की उम्र 16 और 17 साल है, जिन्होंने वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्यम से अपना बयान दर्ज कराया है और साथ ही स्पेशल POCSO कोर्ट में अपने इन बयानों को दोहराया भी है. बच्चियों ने बताया कि शेल्टर होम में उनकी शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना हुई है. साथ ही उन्हें आरोपितों की सेक्सुअल डिमांड्स पूरी करने के लिए मजबूर किया जाता था. पुलिस ने बताया कि इस प्रकरण के जो तथ्य सामने आए हैं, वो डरावने हैं. वार्डन की 19 साल की बेटी के साथ भी थापर के यौन सम्बन्ध थे और अन्य आरोपितों के साथ मिल कर वो लगातार उसका यौन शोषण करने में लगा हुआ था. नाबालिगों से काम कराए जाने के आरोप भी लगे हैं.

पीड़ित लड़कियों ने बताया कि पिछले 4 साल में हुई घटनाओं को लेकर उन्होंने CWC की मुखिया तिर्की से भी कई बार शिकायत की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. पुलिस ने बताया कि इसमें अन्य आरोपितों की भागीदारी को लेकर भी जाँच की जा रही है. शेल्टर होम में पिछले महीने में एक साढ़े 3 साल की लड़की की ब्रेन ट्यूमर के कारण मौत हुई है, इसकी भी जाँच की जा रही है. वो बच्ची एक रेप पीड़िता की बेटी थी, जो उसे अपने साथ नहीं रखना चाहती थी. थापर, उनकी पत्नी पुष्पा या फिर ‘मदर टेरेसा वेलफेयर सोसाइटी’ ने बच्ची की मौत को लेकर पुलिस-प्रशासन को कोई सूचना नहीं दी. नियमानुसार उन्हें ऐसा करना चाहिए था.

थापर दम्पति पर ये भी आरोप है कि वो शेल्टर होम और बच्चियों के देखरेख के लिए मिले सरकारी फंड्स को अपने बैंक खातों में ट्रांसफर किया करते थे. लोग भोजन और कपड़ों के लिए जो रुपए दान में देते थे, उन्हें भी वो हजम कर जाते थे. पुलिस ने बताया कि पाँचों आरोपितों के संभावित ठिकानों पर छापेमारी जारी है और जल्द गिरफ़्तारी होगी. शमशेर टॉवर और इसके आसपास के निवासियों में इस घटना को लेकर आक्रोश है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

YES

  • Guest
  • Jun 13 2021 10:01:42:027PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार