सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

राज्य सरकार में बिचौलिए हावी,राजधानी में हो रही ज़मीन की लूट:दीपक प्रकाश

सत्ता में शामिल लोग प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से राजधानी रांची में एकड़ के एकड़ जमीन पर चील की तरह दृष्टि लगाकर अवैध कब्जा करने में लगे हुए है।

Saurabh Tiwari- Twitter @SaurabhStv
  • Jan 27 2021 9:02PM
 झारखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सांसद दीपक प्रकाश ने प्रेस वार्ता कर सत्ता के संरक्षण में राजधानी में जमीन लूट की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि यह सरकार बिचौलियों की सरकार है,यह सरकार को चलाने वाले अफसर भी नही है ,मंत्री भी नही है ,सरकार के निर्णय को प्रभावित सत्ता में बैठे हुए लोगो के कॉरिडोर में चलने वाले कुछ ऐसे तत्व है जो खनिज संपदा से लेकर,ट्रांसफर पोस्टिंग से लेकर जमीन के दलाली करने में लगे हुए है।और जमीन के दलाली के अलावा अवैध कब्जा करने का भी काम मे सत्ता में बैठे हुए लोग कर रहे है।
सत्ता में शामिल लोग प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से राजधानी में एकड़ के एकड़ जमीन पर चील की तरह दृष्टि लगाकर अवैध कब्जा करने में लगे हुए है। श्री प्रकाश ने कहा कि राजधानी बनने के बाद यहां की ज़मीन की दर में काफी बढ़ोतरी हुई है।जमीन का  अभाव हुआ है इसलिए इसकी कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि राँची के हेहल कटहल मोड़ खाता न-119 कैलाशपुरी कॉ-ऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी 1982 में बनी थी।और इसमें जिन गरीबों के पास घर नहीं है, उनके लिये घर उपलब्ध कराया जा रहा था।12 एकड़ जमीन पर घर बनाने में सभी बेघर लोग लगे हुए थे।2020-21 तक जमीन की रसीद भी उसके नाम पर काटी गयी है।रजिस्टर-2 में भी उन सभी का नाम है।समिति के लोगो ने अपने अपने जमीन की बाउंड्री भी किया। पर अब जनवरी के माह में सत्ता में बैठे लोग सत्ता के इशारे पर कोऑपरेटिव की ज़मीन को अवैध कब्जा करने का काम कर रहे है।इतना ही नही,उस जमीन के बगल में अन्य ज़मीन लगभग 120 एकड़ सत्ता में बैठे लोग कब्जे करने में लगे हुए है।
कहा कि जब वहां के लोगो ने सीओ के पास फरियाद किया तो उनका जवाब था कि हम कुछ नही कर सकते, इसमे ऊपर के लोगो का हस्तक्षेप है।एसडीओ के पास गए वहां भी कोई जवाब नही मिला।डीसी साहब भी इस प्रकरण में बेचारे नज़र आ रहे है।इस पर कमिश्नर का भी आदेश है कि यह ज़मीन कोआपरेटिव की ज़मीन है,दुर्भाग्य से पूरा शासन व्यस्वस्था वो चाहे राजस्व विभाग के सचिव हो या अन्य अधिकारी सभी उत्तर देने में असमर्थ साबित हुए है।क्योंकि सत्ता में बैठे लोगों का इन अधिकारियों पर पूरा दबाव है।ये सत्ता में बैठे लोगों की नज़र इसके अलावा 120 एकड़ ज़मीन पर भी है।
श्री प्रकाश ने कहा कि सत्ता और सरकार में थोड़ी भी नैतिकता हो तो पूरी प्रकरण की जांच होनी चाहिए।और दूध का दूध और पानी का पानी होना चाहिए।उन्होंने कहा कि सत्ता समाज के हित के लिए  है।सत्ता इस राज्य के विकास के लिए है,सत्ता कानून व्यवस्था को सुधार करने के लिए है।सत्ता इस राज्य को वैभवशाली बनाने के लिए है।लेकिन सत्ता का उपयोग सत्ता के बिचौलियों एवं दलालो के लिए होगी तो भारतीय जनता पार्टी मौन नही रहेगी।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार